29.1 C
Delhi
Homeकोलकाताकोलकाता में खुला एक अनोखा रेस्टोरेंट, जानिए क्या हैं इसकी खासियत

कोलकाता में खुला एक अनोखा रेस्टोरेंट, जानिए क्या हैं इसकी खासियत

- Advertisement -

सेंट्रल डेस्क, 13 जुलाई 2021 : हम सभी को अगर कही बाहर घूमने का मन हो तो हम अपने फ्रेंड्स और फैमिली संग जाना पसंद करते है। हम कभी खुली जगह जाते या रेस्टोरेंट में बैठकर समय गुजारते है। आज हम आपको कोलकाता के एक ऐसे रेस्टोरेंट के बारे में बताएंगे जो एक अनोखे तरीके से बना हुआ है। ये एक ऐसा रेस्टोरेंट है जिसने पीली टैक्सी को ही थीम बना दिया है।

रेस्टोरेंट की खासियत :

इस रेस्टोरेंट में सबसे पहले आपको यहां लगा झूमर अपनी ओर आकर्षित करेगा। ये झूमर कोलकाता के सबसे पुराने लेकिन सबसे लोकप्रिय सार्वजनिक परिवहन नॉन एसी पीली टैक्सी से प्रेरित है। इसका इनोवेशन यहीं तक सीमित नहीं था, कुर्सियों में भी कुछ नया पेश किया गया है।

रेस्टोरेंट की कुर्सियां संगीत वाद्ययंत्रों से प्रेरित हैं। यह अभिनव कैफे सबसे प्रसिद्ध ‘फर्जी कैफे’ के अलावा किसी और का विचार नहीं है, जो कोलकाता में अपने पहले आउटलेट के लिए तैयार है।

कहां पर हैं रेस्टोरेंट :

ज़ोरावर कालरा का फ़र्ज़ी कैफे गोल्डन पार्क में स्थित है, तो वही आधुनिक भारतीय बिस्तरों 4,500 वर्ग फुट जगह में फैला हुआ है, जो बड़े करीने से तीन खंडों में विभाजित है। फ़र्ज़ी कैफे कोलकाता आपको उनके आंतरिक सज्जा, एक तालु और आत्मा-संतोषजनक भोजन मेनू, आरामदायक कॉकटेल, सहायक कर्मचारी और एक संक्रामक खिंचाव के साथ आकर्षित करेगा।

फ़र्ज़ी कैफे कोलकाता फ्रैंचाइज़ी के मालिक अमित गोयल कहते है कि हमने कलकत्ता के सभी तत्वों को फ़र्ज़ी कैफे में समाहित किया है, चाहे वह झूमर में पीली टैक्सी की गतिज ऊर्जा हो, या फिर पंखे। आप कुर्सियों में चेहरे का मुखौटा, किताबें, संगीत तत्व जैसे तुरही देखते हैं।

फ़र्ज़ी कैफे पूरे कलकत्ता को दिखाता है और आप इसके हर हिस्से को देखते हैं। कलकत्ता की सभी संस्कृति और पुराने हिस्से स्वतंत्र तस्वीरों और टाइपराइटरों की तरह हैं और ये दिखाता है कि हमने उन्हें आज के समय में कैसे शामिल किया है।

ये भी पढ़े…..

- Advertisement -



- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -