21.1 C
Delhi
Homeजम्मू-कश्मीरकश्मीर : एक स्थान पर लोगों के जुटने पर लगी पाबंदी, मोबाइल...

कश्मीर : एक स्थान पर लोगों के जुटने पर लगी पाबंदी, मोबाइल इंटरनेट सेवायें की गयीं बंद

- Advertisement -

सेंट्रल डेस्क/सुप्रिया सचान। अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी के निधन के बाद से ही कश्मीर घाटी के ज्यादातर हिस्सों में लोगों के एकत्रित होने पर पाबंदी जारी है। वहीं मोबाइल इंटरनेट सेवाएं शनिवार सुबह दोबारा बंद कर दी गयीं हैं। बीती रात को इंटरनेट सेवाएं बहाल की गयी थी।

जम्मू कश्मीर में तीन दशक से अधिक समय तक अलगाववादी मुहिम का नेतृत्व करने वाले और पाकिस्तान समर्थक अलगाववादी नेता को उनके आवास के समीप एक मस्जिद में सुपुर्द-ए-खाक किया गया। उनके निधन के बाद घाटी में सावधानी के तौर पर पाबंदियां लगायी गयीं। अधिकारियों ने बताया कि घाटी के ज्यादातर हिस्सों में लोगों के एकत्रित होने पर पाबंदियां लगी हुई हैं लेकिन कुछ हिस्सों में लोगों की आवाजाही में ढील दी गयी है। साथ ही यह जानकारी दी 91 वर्षीय गिलानी का लंबी बीमारी के बाद बुधवार रात को उनके आवास में निधन हो गया था।

आपको बता दें गिलानी हैदरपुरा के रहने वाले थे। श्रीनगर के पुराने इलाके और हैदरपुरा में पाबंदियां अभी भी जारी हैं। हैदरपुरा इलाके में गिलानी के आवास तक जाने वाली सड़कें बंद हैं और लोगों के आने जाने पर रोक लगायी गयी है। अधिकारियों ने बताया कि कानून एवं व्यवस्था को बनाए रखने के लिए बड़ी तादाद में सुरक्षाबलों को तैनात किया गया है। इंटरनेट सेवाओं और मोबाइल टेलीफोन सेवाओं को दो दिन तक बंद रखने के बाद शुक्रवार रात को बहाल किया गया था परन्तु मोबाइल इंटरनेट सेवाओं को शनिवार सुबह फिर से बंद कर दिया गया। अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी के निधन के बाद पाकिस्तान में भी राजकीय शोक कि घोषणा की थी।

यह भी पढ़ें-

- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -