28.1 C
Delhi
Homeजम्मू-कश्मीरऑनलाइन क्लासेस के लिए नहीं था फ़ोन फिर भी मनदीप बना जिला...

ऑनलाइन क्लासेस के लिए नहीं था फ़ोन फिर भी मनदीप बना जिला टॉपर

- Advertisement -

सेंट्रल डेस्क : कोरोना महामारी के कारण बच्चों के स्कूल बंद है जिसकी वजह से ऑनलाइन क्लासेस के साथ – साथ परीक्षा भी ऑनलाइन ही हुई है। अगर आपके अंदर पढ़ने की चाह हो तो किसी भी परिस्थिति में पढ़ कर सकते है। ऐसा ही कमाल जम्मू-कश्मीर के उधमपुर के एक छात्र मनदीप सिंह ने कर दिखाया है। मनदीप सिंह ने राज्य शिक्षा बोर्ड की 10वीं कक्षा में 98.06 प्रतिशत अंक हासिल किए हैं और इसके साथ ही वह अपने जिले का टॉपर है।

यहां तक पहुंचने के लिए उसने कई चुनौतियों का सामना किया है। मनदीप सिंह ने कहा कि पिछले साल लॉकडाउन के कारण वह स्कूल नहीं जा सका और ऑनलाइन क्लास के लिए उनके पास फोन या कंप्यूटर नहीं था। पूरी लगन और अपने परिवार के सदस्यों और शिक्षकों की मदद से उसने न केवल अच्छी पढ़ाई की बल्कि परीक्षा में टॉप भी किया।

डॉक्टर बनना चाहता है मनदीप सिंह –

डॉक्टर बनने की ख्वाहिश रखने वाला मनदीप अमरोह गांव में रहता है। मनदीप के पिता श्याम सिंह एक किसान हैं और मनदीप कभी-कभी पिता के साथ खेतों में भी काम करता है और मां संध्या देवी गृहिणी हैं। मनदीप ने अपने शिक्षकों का आभार करते हुए कहा कि वह सरकारी हाई स्कूल के अपने शिक्षकों का आभारी है जिन्होंने उसे पढ़ने के लिए किताबें दीं।

आपको बता दें कि जम्मू-कश्मीर के उधमपुर के मनदीप सिंह ने राज्य बोर्ड में 98.6% अंको के साथ जिले में टॉप किया है। मनदीप ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान मेरे भाई ने मेरी पढ़ाई में मेरी मदद की मेरे गांव अमरोह में अपर्याप्त बिजली आपूर्ति और अन्य चुनौतियों के बावजूद, मैं पढ़ाई करने में कामयाब रहा।

मनदीप को सबसे ज्यादा मदद अपने बड़े भाई से मिली जो जम्मू स्थित शेर-ए-कश्मीर कृषि विज्ञान और प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय में पढ़ते थे, लेकिन कोरोना वायरस प्रतिबंधों के कारण घर लौट आए थे। मनदीप का कहना है कि वह अब नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट ( नीट ) पास करना चाहता है ताकि वह मेडिसिन की पढ़ाई कर सके।

समस्याओं की बजाए स्टडी पर किया फोकस –

मनदीप ने सरकार से अनुरोध किया है कि गरीब छात्रों को सपोर्ट करे और उनके सपनों को प्राप्त करने में उनकी मदद करें। अपने दोस्तों के बारे में बताते हुए उसने कहा कि उन्होंने लॉकडाउन में पढ़ाई में दिक्कत आने की शिकायत की, जो कि सही थी हालांकि मनदीप ने समस्याओं के बारे में शिकायत करने के बजाए कड़ी मेहनत करके स्टडी पर फोकस किया और सफलता हासिल की।

- Advertisement -



- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -