29.1 C
Delhi
Homeप्रयागराजप्रयागराज : जिलाधिकारी ने कार्यदायी संस्थाओं को निर्माणाधीन कार्यों को शीघ्रता से...

प्रयागराज : जिलाधिकारी ने कार्यदायी संस्थाओं को निर्माणाधीन कार्यों को शीघ्रता से पूर्ण कराये जाने का दिया निर्देश

- Advertisement -

प्रयागराज/अभय दास : जिलाधिकारी संजय कुमार खत्री की अध्यक्षता में संगम सभागार में सोमवार को कार्यदायी संस्थाओं एवं विकास कार्यों की समीक्षा करते हुए सभी कार्यदायी संस्थाओं को निर्माणाधीन कार्यों को गुणवत्ता के साथ शीघ्रता से पूर्ण कराये जाने का निर्देश दिया है। उन्होंने यह भी निर्देशित किया है कि कार्यदायी संस्थाओं के द्वारा जैसे ही निर्माणकार्य पूर्ण कर लिया जाये, वैसे ही तत्काल भवन को सम्बंधित विभागों को हस्तांतरित कर दिया जाये।

उन्होंने निर्माणाधीन कार्यों की गुणवत्ता एवं कार्य की प्रगति की समीक्षा हेतु टीम बनाकर कार्यों का नियमित रूप से अनुश्रवण कराते रहने का निर्देश दिया है। जिलाधिकारी ने सभी कार्यदायी संस्थाओं को निर्माण कार्यों में गुणवत्ता का विशेष ध्यान दिये जाने की हिदायत दी है। उन्होंने कहा कि कार्यों में लापरवाही या उदासीनता किसी भी दशा में स्वीकार्य नहीं होगी। उपलब्ध धन के सापेक्ष कार्य की प्रगति न पाये जाने पर सम्बंधित अधिकारी के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई की जायेगी।

जिलाधिकारी ने कार्यों में लापरवाही या उदासीनता बरतने पर राजकीय निर्माण निगम के अधिकारी के विरूद्ध प्रतिकूल प्रविष्टि दिये जाने का निर्देश दिया है। उन्होंने राजकीय पाॅलिटेक्निक महाविद्यालय बारा एवं जसरा, अग्निशमन केन्द्र कोरांव, होलागढ़, हनुमानगंज, इलाहाबाद दक्षिणी में ट्रांसमिशन सब स्टेशन के निर्माण कार्य, बारा में मिनी स्टेडियम, सरोजनी नायडू अस्पताल में बाल रोग चिकित्सालय भवन, आंगनबाड़ी भवन, स्वास्थ्य केन्द्र कोटवा, आईटीआई कोरांव, आयुष छात्रावास, एचटीपी, लाक्षागृह, कस्तूरबा गांधी विद्यालय तथा बन रहे रेलवे आरओबी के निर्माण कार्यों सहित अन्य निर्माणाधीन कार्यों को शीघ्रता से पूर्ण कराये जाने का निर्देश सम्बंधित कार्यदायी संस्थाओं को दिया है।

विद्युत विभाग की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने विद्युत विभाग के अधिकारियों को लक्ष्य के सापेक्ष शत-प्रतिशत विद्युत की वसूली सुनिश्चित किये जाने का निर्देश दिया है। बैठक में बिना सूचना दिये अनुपस्थित पाये जाने पर अधिशाषी अभियंता पीएमजेएसवाई का एक दिन का वेतन रोके जाने का निर्देश दिया है। जिलाधिकारी ने आवास योजना, राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल मिशन, कन्या सुमंगला योजना, दुग्ध समितियों के गठन की समीक्षा करते हुए समितियों को और अधिक क्रियाशील किये जाने का निर्देश दिया है।

कार्यों में लापरवाही बरते जाने पर जिलाधिकारी ने अधिशाषी अभियंता लघु सिंचाई को स्पष्टीकरण प्रस्तुत करने का निर्देश दिया है। जिलाधिकारी ने सिचाई विभाग की समीक्षा करते हुए सभी सम्बंधित अभियंताओं को 5 दिन के अंदर नहरों के सिल्ट सफाई की कार्ययोजना बनाकर प्रस्तुत करने का निर्देश दिया है। लोक निर्माण विभाग के कार्यों की समीक्षा करते हुए उन्होंने अधीक्षण अभियंता लोक निर्माण विभाग को निर्देशित किया कि सड़कों पर ब्लैक टाप के कार्य के समय अवर अभियंता या उससे उपर के अधिकारी अनिवार्य रूप से उपस्थित रहेंगे।

उन्होंने मुख्य पशुचिकित्साधिकारी को निराश्रित गोवंश आश्रय स्थलों का नियमित रूप से अनुश्रवण करते रहने तथा गौ पालकों का भुगतान 2 दिन के अंदर किये जाने का निर्देश दिया है। इसके साथ ही साथ मत्स्य पालन विभाग, मुख्यमंत्री शादी अनुदान योजना, वानिकी विभाग, कौशल विकास, श्रम विभाग सहित अन्य विभागों की समीक्षा करते हुए सम्बंधित अधिकारियों को योजनाओं से पात्र व्यक्तियों को लाभान्वित कराये जाने का निर्देश दिया है। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी श्री शिपू गिरि, जिला विकास अधिकारी, जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी सहित कार्यदायी संस्थाओं तथा अन्य सम्बंधित विभागों के अधिकारीगण उपस्थित रहे।

- Advertisement -


- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -