राजधानी लखनऊ में एक दिन में मिले 4059 नए केस, कोरोना की जांच और इलाज की हालत खराब, OPD ठप

स्टेट डेस्क/शोभित शुक्ला : उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में कोरोना ने सारे रिकॉर्ड ध्वस्त कर दिए हैं| राजधानी में कोरोना की जांच की हालत इतनी बत्तर है कि ज़्यादातर जगहों पर जांचे बंद है| इसके चलते बलरामपुर अस्पताल में जांच और ओपीडी सेवाएं बंद है, जबकि सिविल अस्पताल में लंबी लाइन लगी हुई है| लोकबंधु अस्पताल और किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी भी ओपीडी ठप पड़ी हुई है, उधर, पीजीआई और लोहिया संस्थान में भी हालत खराब होती जा रही है| सिविल अस्पताल में शनिवार को 13 चिकित्सक और उनके परिवार वाले संक्रमित पाए गए हैं, खास बात है कि यह सभी डॉक्टर कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज़ ले चुके हैं| संक्रमित ज्यादातर डॉक्टरों ने कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज 25 मार्च को ले ली थी, केजीएमयू के 100 डॉक्टर और कर्मी कोरोना पॉजिटिव निकले है| वहीं जरूरी विभाग की ही ओपीडी चालू रहेगी. जो संक्रमित पाए गए है, उनमे से अधिकांश कोरोना वैक्सीन की डोज ले चुके हालांकि केजीएमयू की इमरजेंसी सेवाएं चलती रहेगी|


लखनऊ में एक दिन में मिले 4059 नए केस
लखनऊ में एक दिन में 4059 नए केस मिले हैं, जबकि 23 लोगों ने दम तोड़ दिया|लखनऊ में अब 16990 एक्टिव केस है| लखनऊ के बाद प्रयागराज में 1460 नए केस आए हैं| यहां दो लोगों की मौत हो गई है, यहां पर 6902 एक्टिव केस हैं| वाराणसी में 983 और कानपुर नगर में 706 केस आए हैं| कानपुर में छह लोगों की मौत हुई है|इसके पहले शुक्रवार को 9695, आठ अप्रैल को 8490 और 11 सितंबर को 7103 मरीज पाए गए थे| इसके साथ ही प्रदेश में अब तक कुल संक्रमितों की संख्या 6,76,739 हो चुकी है|

प्रदेश में एक दिन में मिले 12,787 नए संक्रमित
प्रदेश में 12,787 नए कोरोना संक्रमित मिले हैं जबकि बीते 24 घंटे में 48 लोगों की मौत हुई है. जबकि राजधानी लखनऊ में एक दिन में 4059 कोरोना के नए केस सामने आए है. वहीं 23 लोगों की अब तक मौत हो चुकी है. लखनऊ के अस्पताओं में हालात बुरी तरह खराब हो चुके है. भर्ती करवाने वालों की लंबी कतारें लगी हुई है. उधर, प्रयागराज, वाराणसी और कानपुर में भी कोरोना का ग्राफ तेजी से ऊपर उठ रहा है. सीएम योगी आदित्यनाथ खुद भी मैदान में उतर पड़े हैं जबकि मंत्रियों को जिलों में भेजा जा रहा है.