कोरोना संक्रमण से कृषि विभाग में तैनात एक महिला समेत चार लोगों की हुई मृत्यु

बाराबंकी/शोभित शुक्ला : कोरोना से हो रही मौतों पर ब्रेक नहीं लग पा रही है। शुक्रवार को कोरोना संक्रमण की चपेट में आकर कृषि विभाग में तैनात एक महिला समेत चार लोगों की जान चली गई। इस तरह से कोरोना से मरने वालों का आंकड़ा 43 तक पहुंच गया है। वहीं एक्टिव केसों की संख्या में भी लगातार बढ़ोत्तरी होती जा रही है।


वहीं देरशाम आई जांच रिपोर्ट के अनुसार जिले में 540 और कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद इनमें से ज्यादातर को होम आइसोलेशन में रखा गया है। कोरोना संक्रमण की चपेट में आकर जिला कृषि अधिकारी कार्यालय में तैनात एक महिला की मौत हो गई। दीनदयाल नगर निवासी परिवारीजनों ने आरोप लगाते हुए बताया कि जांच रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आने पर जिले के कोविड अस्पतालों में भर्ती कराने का पूरा प्रयास किया गया लेकिन किसी भी अस्पताल ने भर्ती नहीं किया।

जबकि ऑक्सीजन लेवल लगातार गिरता जा रहा था। विभागीय अधिकारियों के अथक प्रयास के बाद लखनऊ के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां शुक्रवार को उपचार के दौरान मौत हो गई। इसके अलावा सुहावां निवासी एक व्यक्ति की भी कोरोना से मौत हो गई। परिवारीजनों ने आरोप लगाते हुए बताया कि जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद कोविड अस्पतालों में भर्ती कराने का प्रयास किया गया लेकिन हर जगह ऑक्सीजन की कमी बताकर भर्ती नहीं लिया गया।

हर के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां मौत हो गई। इसके अलावा शहरी निवासी एक बुजुर्ग की कोरोना से मौत हो गई। हालत गंभीर होने पर तीन दिन पूर्व परिवारीजनों ने मेयो अस्पताल में भर्ती कराया था जहां पर शुक्रवार को मौत हो गई। वहीं त्रिवेदीगंज में भी कोरोना से एक व्यक्ति की मौत हो गई। जांच रिपोर्ट पॉजिटिव पाए जाने के बाद परिवारीजनों ने उपचार के लिए लखनऊ के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया था।

इस तरह से जिले में चार और लोगों की मौत के बाद कोरोना से मरने वालों की संख्या 43 हो गई है। वहीं देरशाम आई जांच रिपोर्ट के अनुसार जिले में 540 और कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इनमें बंकी व शहरी क्षेत्र में 92, बनीकोड़र में 18, देवा में 10, दरियाबाद में 6, फतेहपुर में 5, हैदरगढ़ में 10, हरख में 13, मसौली में 11, निंदूरा में 2, पूरेडलई में 9, रामनगर में 3, सिद्वौर में 6, सिरौलीगौसपुर में 4, सूरतगंज में 5, त्रिवेदीगंज में 8 और 22 अप्रैल की देररात आए 334 कुल 540 और पॉजिटिव पाए गए हैं। जांच रिपोर्ट आने के बाद इनमें से ज्यादातर को होम आइसोलेशन में रखा गया है।

रामनगर तहसील में तैनात तहसीलदार, नायब तहसीलदार समेत कई कर्मी कोरोना संक्रमण की चपेट में आ गए हैं। इसके अलावा नगर पंचायत का एक कर्मचारी भी कोरोना पॉजिटिव आई है। जिस पर तहसील और नगर पंचायत कार्यालय परिसर को सैनिटाइज कराने का कार्य किया जा रहा है।

जांच कराने को लग रही लाइन
कोरोना का खौफ लोगों के सिर चढ़कर बोलने लगा है। सर्दी, जुकाम और हल्का सा बुखार होने पर भी लोग कोरोना की जांच कराने के लिए सीएमओ ऑफिस के निकट लगने वाले कैंप पर पहुंच रहे हैं। जिससे यहां पर जांच कराने वालों की लंबी-लंबी लाइने लगने लगी है। इसके अलावा जिला अस्पताल में भी कोरोना की जांच कराने वालों की भीड़ जुट रही है।

शहर कोतवाली पुलिस द्वारा आरोपी विपिन कुमार वर्मा निवासी कस्बा व थाना सफदरगंज को असैनी मोड़ से शुक्रवार को गिरफ्तार किया गया। आरोपी के कब्जे से कालाबाजारी करने वाली छह डेसरेम इंजेक्शन की शीशी बरामद हुई, इसकी कीमत प्रति इंजेक्शन 4800/- रुपये है जबकि आरोपी उपरोक्त द्वारा डेसरेम इंजेक्शन को ब्लैक में 11 हजार रुपये में बेचा जा रहा था। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ महामारी अधिनियम के तहत केस दर्ज कर उसे जेल भेज दिया है।

जनपद में दो दिन का कोरोना कर्फ्यू शुक्रवार रात आठ बजे से शुरू हो गया है। शहर से लेकर ग्रामीण इलाके में सभी बाजार बंद हो चुके है और लोग घरों में ही कैद है। इसके साथ ही जगह जगह पर पुलिस चेकिंग कर रही है। जो भी बिना वजह के घर से बाहर घूमते मिल रहे है पुलिस द्वारा उनके वाहन का चालान व जुर्माना की कार्रवाई की जा रही है।

-डॉ. बीकेएस चौहान, सीएमओ ने बताया कि कृषि विभाग में तैनात एक महिला कर्मी समेत चार लोगों की कोरोना से मौत हुई है। जिसकी जांच के आदेश दिए गए हैं। देरशाम आई जांच रिपोर्ट में कई और लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं इनमें से ज्यादातर को होम आइसोलेट कराते हुए चिकित्सकों की टीम को इन पर पूरी नजर रखने के आदेश दिए गए हैं। लोगों से बराबर अपील की जा रही है कि वह जरुरी हो तभी अपने घरों से बाहर निकले और कोरोना गाइड लाइन का पूरी तरह से पालन करें।