29.1 C
Delhi
Homeबाराबंकीमहिला ने चचेरे देवर के पुत्र की गला दबाकर की हत्या

महिला ने चचेरे देवर के पुत्र की गला दबाकर की हत्या

- Advertisement -

बाराबंकी/शोभित शुक्ला: देवा थाना क्षेत्र के त्रिगुर्जी मजरे टीपहार में मामूली बात को लेकर एक महिला ने चचेरे देवर के पुत्र की गला दबाकर हत्या कर दी। इसके बाद शव को घर में ही दफन कर दिया। शक के आधार पर पुलिस ने आरोपित के घर से शव को बरामद कर महिला को गिरफ्तार कर लिया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार त्रिजुगी के बच्छराज का साढ़े तीन वर्षीय पुत्र हिमांशु 14 सितंबर की शाम चार बजे से लापता हो गया था। काफी खोजबीन के बाद उसका पता नहीं लग सका। देर रात उसके पिता ने थाने में गुमशुदगी की तहरीर दी। पुलिस को जांच-पड़ताल के दौरान घर वालों ने गांव के ही प्रदीप के घर से तीन दिन पहले झगड़ा होने की बात बताई। शक के आधार पर जब पुलिस ने प्रदीप के घर की तलाशी ली तो एक कमरे में ताजी मिट्टी के निशान दिखे। शक गहराने पर पुलिस ने खोदाई करवाई तो उसमें हिमांशु की लाश बरामद हुई। पुलिस के पूछताछ करने पर प्रदीप की पत्नी ने हत्या की बात स्वीकार कर ली। इस पर आरोपित मीरा उर्फ केतकी को गिरफ्तार कर लिया गया है।

पुलिस को मीरा ने बताया बताया कि तीन-चार दिन पहले चचेरे देवर बच्छराज के घरवालों ने उसकी पुत्री को हाथ पकड़ कर अपने घर से भगा दिया था। उसी गुस्से में उसने हिमांशु की हत्या कर दी। इस मामूली से बात पर बच्चे की हत्या करने की जानकारी पर पूरा गांव यहां तक की जो सुन रहा था वही स्तब्ध था।

बताते चले कि बच्छराज के घर वालों के अनुसार उनके घर से कुछ दिन पहले जेवरात चोरी हो गए थे। शक होने के बाद मीरा ने झूठी कसम खाई थी। बाद में वह जेवर मीरा ने सराफ की दुकान पर बेचे थे इसका भी पता चला था। इसके चलते मीरा बच्छराज के परिवार से रंजिश कर बैठी थी।

यह भी पढ़े –

- Advertisement -


- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -