32.1 C
Delhi
Homeबिहारशरीफनालंदा : राष्ट्रीय लोक अदालत में बैंक ऋण के 778 मामलों के...

नालंदा : राष्ट्रीय लोक अदालत में बैंक ऋण के 778 मामलों के निपटारे में कुल 4.54 करोड़ का सटलमेंट

- Advertisement -
  • बैंक सहित कुल 12 सौ विवादित मामलों का निपटारा
  • सर्वाधिक 2.19 करोड़ रुपए 477 मामलों का निपटारा में सटलमेंट कर डीबीजीबी रहा अव्वल
  • दावा मामलों में रिकार्ड 28 मामले के निपटारे में 1.31 करोड़ रुपए भुगतान का सटलमेंट

बिहारशरीफ/अविनाश पांडेय : जिला विधिक सेवा प्राधिकार अध्यक्ष सह जिला जज डा. रमेशचन्द्र द्विवेदी की अध्यक्षता व सचिव सह एडीजे प्रभाकर झा के निर्देशन में शनिवार को वर्ष का दूसरा राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया गया। सारे कार्य और निपटारे फिजिकल पद्दति से किए गए। आयोजन की शुरूआत जिला जज डा. रमेशचन्द्र द्विवेदी व अन्य न्यायिक पदाधिकारियों के साथ दीप प्रज्जवलित कर उदघाटन के बाद प्रारंभ हुआ।

उन्होंने कहा कि निर्धनों को न्यायिक लाभ दिलाना ही आयोजन और प्राधिकार का मुख्य उद्देश्य है। आपके द्वार तक न्याय का लाभ पहुंचे इसका प्रयास है। पक्षकार इसमें भाग लेकर अधिक से अधिक लाभ उठाये। निपटारे के लिए कुल गठित 8 न्यायिक बेंच लगाए गए थे। जिनके पीठासीन पदाधिकारी एडीजे मो. मंजूर आलम, संतोष कुमार गुप्ता एसीजेएम कुमार कौशल किशोर, विमलेन्दु कुमार, सेफाली नारायण, जेएम आशीष रंजन विद्यानंद सागर व अविनाश कुमार थे।

इसके सहयोग के लिए प्रत्येक बेंच में एक-एक प्रोवेशनरी मुंसफ व एक एक पैनल अधिवक्ता व कर्मी तथ पदचर थे। आयोजन के तहत बैंक ऋण बसूली दावा, विद्युत व श्रम पारिवारिक विवाद, एनआई एक्ट, खनन तथा आपराधिक व सिविल मुकदमें का दोनों पक्षों के सुलह के आधार पर सुलहनीय विवादित मामलों का निपटारा किया गया। इसके तहत बैंक ऋण वसूली के 778 मामले के निपटारे में हिलसा अनुमंडल न्यायालय सहित कुल 4.54 सटलमेंट किया गया। जिसमें हिलसा के तहत बैंक ऋण के कुल 221 मामले 1.6 करोड़ रुपए का सटलमेंट हुआ।

सर्वाधिक बैंक ऋण के 477 मामले का निपटारा 2.19 करोड़ रुपये का सटलमेंट दक्षिण बिहार ग्रामीण बैंक कर प्रथम रहा। 28 दावा मामलों के तहत 1.31 करोड़ रुपए के भुगतान का सलटमेंट किया गया। विद्युत विभाग ने 24 लाख रुपये की वसूली की। पारिवारिक विवाद मामले सहित कुल 1230 मामले आपराधिक एवं अन्य मामले निपटाएं गये। जिसमें 69 लाख रुपए वसूली की गई।

दक्षिण बिहार ग्रामीण बैंक सर्टिफिकेट अधिकारी रविकांत ने बताया कि जिन लोगों ने सूचना के बावजूद आयोजन में भाग नहीं लिया और ऋण वसूली नहीं कराई है। शीघ्र ही उन पर वार्डी वारंट निर्गत किया जाएगा। कार्यक्रम में प्राधिकार कर्मी मो. आतीफ, मुकुंद माधव, मंजीत सिंह, कौशल किशोर, मधुसूदन, अरविंद सहित पीएलभी राजीव पंकज ने कार्यों में सहयोग किया।

- Advertisement -


- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -