मास्टर प्लान से मोतिहारी शहर व आसपास के क्षेत्रों को सुनियोजित रूप से करना है विकसित: डीएम

चंपारण/राजन दत्त द्विवेदी: मोतिहारी जिलाधिकारी शीर्षत कपिल अशोक के अध्यक्षता में मोतिहारी शहर एवं इसके आसपास स्थित क्षेत्रों को समेकित एवं सुनियोजित रूप से विकसित करने के उद्देश्य से बैठक हुई। इस दौरान मौजूद लोगों से मास्टर प्लान तैयार करने के लिए विचार विमर्श करते हुए सुझाव लिए। वही मोतिहारी क्षेत्र का सीमांकन किया गया। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी को निर्देश दिया कि अतिक्रमण खाली कराए गए जगहों पर जिनके द्वारा भी अतिक्रमण किया जाता है, उनसे दंड स्वरूप राशि वसूल की जाए। साथ ही उन पर प्राथमिकी दर्ज कराई जाय। डीएम ने आरसीडी के अभियंता व एनएचएआई के अभियंता को निर्देश दिया कि सड़कों का चौड़ीकरण, यूलूप चौराहों पर पर बनवाएं जहां अंडरपास की आवश्यकता हो, वहां अंडरपास बनवाऐं। साथ ही लोहिया पुल का जीर्णोद्धार करा दें।



जिलाधिकारी ने कहा इंडस्ट्रियल टाउन और एजुकेशनल टाउन बनाने की दिशा में कार्रवाई की जा रही है। शीघ्र ही मेडिकल कॉलेज का प्रस्ताव भेजा जाएगा। वही कार्य से संबंधित मॉनिटरिंग की जिम्मेदारी नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी को दिया। जिलाधिकारी ने विद्युत विभाग से ट्रांसफार्मर की मरम्मत एवं सड़कों के बीच आने वाले सभी पोल का शिफ्टिंग तुरंत कराने का निर्देश दिया।

वही शहर के सौंदर्यीकरण एवं शहर की सफाई को ले जिलाधिकारी ने नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी को निर्देश दिया। कहा कि शहर में पार्किंग की व्यवस्था करने हेतु जमीन चिन्हित करने को ले कर सदर अनुमंडल पदाधिकारी व नगर परिषद कार्यपालक पदाधिकारी को निर्देश दिया। बैठक में नगर परिषद अध्यक्षा, सहायक पुलिस अधीक्षक, नजारत उप समाहर्ता, डीआरडीए डायरेक्टर, जिला परिवहन पदाधिकारी, कार्यपालक अभियंता बुडको, आरसीडी, एनएचएआई, अनुमंडल पदाधिकारी सदर एवं अन्य विभागों के तकनीकी पदाधिकारी समेत गोपनीय शाखा के विशेष कार्य पदाधिकारी, अंचलाधिकारी, पुलिस पदाधिकारी समेत नगर परिषद के सचिव सदस्यगण स्वयंसेवी संस्था के अध्यक्ष व सचिव सदस्य गण, चेंबर ऑफ कॉमर्स के अध्यक्ष व सचिव समेत गणमान्य नागरिक मौजूद थे।