32.1 C
Delhi
Homeबेतियानिर्धारित लक्ष्य प्राप्त करने के लिए धान अधिप्राप्ति दर तीव्र करें :...

निर्धारित लक्ष्य प्राप्त करने के लिए धान अधिप्राप्ति दर तीव्र करें : कुंदन कुमार

- Advertisement -spot_img

गुणवतापूर्ण खाद्यान्न उपलब्ध कराने की सीएमआर गोदाम पर दण्डाधिकारी प्रतिनियुक्त करने का निदेश
जिला में 5145 किसानों से 35082.27 एमटी धान की अधिप्राप्ति हुई : डीएम
धान खरीद मद में 5145 किसानों को 628743015.00 रुपये का भुगतान
निष्क्रिय (अक्रियाशील) पैक्सों को क्रियान्वित (फंक्शनल) कराने का निदेश

बेतिया/अवधेश कुमार शर्मा। पश्चिम चंपारण जिला में किसानों को सुविधा दिलाने की खातिर धान अधिप्राप्ति जिला प्रशासन के निर्देश पर किया जा रहा है। इस बाबत धान अधिप्राप्ति की विस्तृत समीक्षा के दौरान पदाधिकारियों को जिला पदाधिकारी कुंदन कुमार ने कहा कि खरीफ विपणन मौसम 2021-22 में विभिन्न पैक्सों से धान अधिप्राप्ति की जा रही है। विभागीय निदेश के आलोक में पैक्सों द्वारा पंजीकृत किसानों से ही धान की अधिप्राप्ति की जानी है। किसानों को सरकार द्वारा निर्धारित समर्थन मूल्य का लाभ मिल सके।

उन्होंने कहा कि धान अधिप्राप्ति में यह सुनिश्चित करें कि व्यापारी अथवा बिचौलिए की संलिप्तता किसी भी स्थिति में नहीं हो। जीरो टॉलरेंस नीति अंतर्गत सफलतापूर्वक धान अधिप्राप्ति सुनिश्चित करें। उपर्युक्त निदेश डीएम कुंदन कुमार ने समीक्षा के दौरान पदाधिकारियों को निर्देश दिया।

उन्होंने निदेश दिया कि धान अधिप्राप्ति में विभागीय दिशा-निर्देशों का शत-प्रतिशत अनुपालन सुनिश्चित करें। इतना ही नहीं धान अधिप्राप्ति की गति तीव्र कर ससमय निर्धारित लक्ष्य प्राप्त करें। उन्होंने कहा कि अक्रियाशील(निष्क्रिय) पैक्सों को (फंक्शनल) क्रियान्वित कराने को जिला सहाकारिता पदाधिकारी ठोस कार्रवाई सुनिश्चित करें। अक्रियाशील पैक्सों का जिला सहकारिता पदाधिकारी स्वयं निरीक्षण करेंगे तथा विभागीय निदेश के आलोक में अग्रेत्तर कार्रवाई सुनिश्चित करें। जिला पदाधिकारी ने कहा कि जिला के सभी पैक्सों की बीसीओ के माध्यम से साप्ताहिक औचक जांच कराएं। जांचोपरांत अनियमितता अथवा गड़बड़ी सामने आने पर संबंधित के विरुद्ध कार्रवाई सुनिश्चित करें।

डिफाल्टर को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जायेगा। साप्ताहिक जांच से संबंधित प्रतिवेदन जियोटैग फोटोग्राफ के साथ उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि सीएमआर गोदाम जहां से पीडीएस दुकानदारों को अनाज उपलब्ध कराया जाता है तथा जहां अन्य जगहों से अनाज आता है, वहां मजिस्ट्रेट की तैनाती करें, पारदर्शीपूर्ण तरीके से गुणवतापूर्ण खाद्यान्न लाभुकों को उपलब्ध कराया जा सके। जिला कृषि पदाधिकारी को निदेश दिया कि किसान सलाहकारों के माध्यम से धान विक्रय करने वाले किसानों का सत्यापन कराएं कि उन्होंने किस तिथि को किस पैक्स को कितनी मात्रा में धान बेचा है।

पंजीकृत वैसे किसान जो अबतक अपने धान का विक्रय नहीं किये हैं, जिनका भी सत्यापन कराएं। ऐसे किसानों के पास कितना धान है, कितना धान बेचना चाहते हैं, किस तिथि को कितना धान किस पैक्स को विक्रय करना चाहते हैं कि जानकारी संकलित करायें। इस क्रम में जिला सहकारिता पदाधिकारी ने बताया कि 11 जनवरी 2022 तक 282 धान अधिप्राप्ति में कार्यशील पैक्स/व्यापार मंडलों के माध्यम से 5145 किसानों से 35082.27 एमटी धान की अधिप्राप्ति की गयी है। धान अधिप्राप्ति में अबतक 628743015.00 रूपये का भुगतान किसानों को की गई है। इस अवसर पर अपर समाहर्ता-सह-जिला आपूर्ति पदाधिकारी अनिल राय, जिला सहकारिता पदाधिकारी अमृताश ओझा व अन्य संबंधित पदाधिकारी उपस्थित रहे।

किसानों की धान खरीद नहीं हो रही, औने पौने कीमत पर धान बेंचने को विवश किसान

नरकटियागंज /बीपी प्रतिनिधि: पश्चिम चंपारण जिला के नरकटियागंज अनुमंडल क्षेत्र के किसान ओने पौने मूल्य पर व्यवसायियों को धान बेचने को विवश हैं। भारतीय किसान संघ के नेता व किसानों का कहना है कि उनके धान की खरीद सरकार के निर्धारित मूल्य पर नहीं की जा रही है। धान खरीदी (अधिप्राप्ति) केन्द्र पर किसानों के धान नहीं खरीदे जा रहे हैं। उधर किसानों की बढ़ती आवश्यकता औने पौने मूल्य पर व्यापारियों के हाथों बेचने को विवश कर रही हैं। भारतीय किसान संघ और अन्य किसान संगठनों ने जिला प्रशासन से किसानों की धान सरकारी दर पर खरीदने की अपील किया है।

यह भी पढ़े ….

- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -