नालंदा में कोरोना टीकाकरण को लेकर बनाए गए 29 बूथ, 12667 हेल्थ वर्कर को लगेगा टीका

बिहारशरीफ(अविनाश पांडेय ): स्वास्थ्य विभाग कोरोना टीकाकरण की शुरुआत करने जा रही है। सब कुछ ठीक-ठाक रहा तो टीकाकरण की शुरुआत बहुत जल्द शुरू कर दी जायेगी। जिले मे टीकाकरण को लेकर 29 बूथ बनाये गये हैं। सभी बूथों के भौतिक सत्यापन का कार्य युद्ध स्तर पर चल रहा है।अभी तक 15 बूथों के भौतिक सत्यापन का कार्य पूरा कर लिया गया है। बुधवार को नालंदा के सिविल सर्जन डा.राम सिंह ने जिले के आठ बूथों का भौतिक सत्यापन का कार्य पूरा कर लिया है। जबकि ती बूथों के भौतिक सत्यापन का कार्य एसइएमओ एवं चार बूथों के भौतिक सत्यापन का कार्य डीआइओ द्वारा पूर्व में पूरा कर लिया गया है।

नालंदा के सिविल सर्जन ने बताया कि प्रथम चरण में 12667 हेल्थ वर्कर को कोरोना का टीका लगाया जायेगा। गाइड लाइन के मुताबिक एक दिन में 3220 हेल्थ वर्कर को कोरोना का टीका लगाया जायेगा।इस हिसाब से प्रथम चरण के कोरोना टीकाकरण का कार्य 3-4 दिन में समाप्त हो जायेगा। जबकि दूसरे चरण में पुलिसकर्मियों को कोरोना का टीका लगाया जायेगा। इसी तरह तीसरे चरण में सिर्फ 60 वर्ष के उपर महिला व पुरुष को कोरोना का टीका लगाया जायेगा। नालंदा जिले के कतरीसराय,सिलाव,बिंद व नगरनौसा के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर पर्याप्त आधारभूत सामग्री उपलब्ध नहीं होने के कारण इन चारों प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के समीप दूसरे सरकारी भवनों में कोरोना वैक्सीनेसन का कार्य किया जायेगा। इसकी आधिकारिक पुष्टि सिविल सर्जन ने की है।

उन्होंने ने बताया है कि इससे संबंधित सारी व्यवस्था पूरी कर ली गयी है। वैक्सीनेशन के कार्य में किसी तरह की कोई असुविधा ना हो इसका पूरा ध्यान रखा जा रहा है। इससे संबंधित विशेष दिशा निर्देश संबंधित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी को दिया जा चुका है। उन्हें यह स्पष्ट बता दिया गया है कि टीकाकरण को लेकर 3 कमरे की व्यवस्था करें। जिसमें पहला कमरा वेटिंग रूम दूसरा कमरा डेस्टिनेशन रूम एवं तीसरा कमरा ऑब्जरवेशन रूम के तहत बनाया जाएगा। जिस स्थान पर वैक्सीनेशन का कार्य किया जाना है उसे पूरी तरह सैनिटाइज एवं साफ सुथरा रखना है।