आरा: आतंकी हमले में शहीद जवानों को कैंडल जलाकर दी गयी श्रद्धांजलि

0
200

आरा/अभिषेक हर्षवर्धन: बीते कल गुरुवार को श्रीनगर के पुलवामा के अवंतिपुरा में CRPF के काफिले पर हुए आतंकी फिदायीन हमले से पूरा देश शोक संतृप्त है।हमले में शहीद हुए CRPF जवानों के शहादत को याद करते हुए लोग पूरी तरह आक्रोशित हैं।साथ ही सरकार से आतंकियों के विरुद्ध कड़ा रुख अख्तियार कर उनको नेस्तनाबूद करने की मांग कर रहे हैं।आतंकी हमले के विरोध का स्वर भोजपुर जिले के जगदीशपुर में भी दिखा।

जगदीशपुर अनुमंडल पदाधिकारी समेत अधिवक्ता संघ द्वारा पुलवामा में हुए हमले में शहीद हुए CRPF जवानों को दो मिनट का मौन रखकर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की गई।जिसमें एसडीएम अरुण कुमार,अधिवक्ता मुकुल विकास श्रीवास्तव,वृदानंद सिंह,विनोद वर्मा,देवव्रत ओझा,सुरेंद्र सिंह आदि उपस्थित थे।वहीं नगर के साकेत कला कुंज संस्था से जुड़े लोगों द्वारा भी शहीदों के शहादत को याद करते हुए दो मिनट का मौन रखकर उन्हें अश्रुपूरित श्रद्धाजंलि अर्पित की गई।

इस दौरान अध्यक्ष जवाहिर शर्मा,कुमार गौतम,अवधेश चौधरी, मोहन प्रसाद आदि थे।उसके पश्चात विभिन्न निजी शिक्षण संस्थानों में भी शिक्षकों समेत स्कूली बच्चों द्वारा दो मिनट का मौन धारण कर वीर शहीदों के शहादत को नमन किया गया।देश की सुरक्षा में अपने प्राणों की आहुति देने वाले जवानों के ऊपर कायराना हमले के विरुद्ध आक्रोश का आलम यह था कि जगदीशपुर के नयका टोला मोड़ पर राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के कार्यकर्ताओं द्वारा पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान का पुतला दहन कर शहीद जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित की गई।

साथ ही देश के प्रधानमंत्री से मांग की गई कि इस कुकृत्य का दुश्मनों को करारा जवाब दिया जाए जिससे कि दुबारा ऐसी नापाक हरकत करने की हिम्मत ना जुटा सके।मौके पर जिलाध्यक्ष रोहित कुशवाहा,सोनू कुशवाहा,धर्मपाल मौर्य, अभय कुशवाहा आदि थे।पूरे दिन ही विभिन्न कार्यक्रमों के माध्यम से लोग शहीद CRPF जवानों को श्रद्धाजंलि देते नजर आए।वहीं शुकवार सायं में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के बैनर तले जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में शहीद जवानों को श्रद्धांजलि देने के लिए कैंडल मार्च निकाला गया।जिसमें सैकड़ों लोगों ने हिस्सा लिया।

कैंडिल मार्च का नेतृत्व परिषद के नगर मंत्री विवेक गुप्ता व मीडिया प्रभारी सूरज कुमार राठी ने  किया।यह मार्च वीर कुंवर सिंह किला परिसर स्थित बासुदेव बाबा के प्रांगण से शुरू होकर झंझरिया पोखरा,मंगरी चौक,मुख्य चौरास्ता,सदर बाजार,दुलौर गली,कोतवाली,सब्जी मंडी,थाना रोड होते सवारथ साहू क्रीड़ा मैदान में जाकर समाप्त हुआ।तत्पश्चात लोगों ने दो मिनट का मौन रखकर शहीदों को श्रद्धाजंलि अर्पित की।वहीं कैंडल मार्च के पश्चात संबोधन में वक्ताओं ने कहा कि आतंकवाद को किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

इस घटना ने समूचे देशवासियों को भीतर तक झकझोर कर रख दिया है।अब समय आ गया है,पाकिस्तान को उसी की भाषा में समझाना होगा।ऐसे वीभत्स घटना के जिम्मेवार लोगों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई करते हुए विश्व स्तर पर आतंकवाद का सफाया होना चाहिए।सीआरपीएफ के जवानों के इस शहादत का मुँहतोड़ जवाब दिया जाना चाहिए।आगे वक्ताओं ने कहा कि ऐसे घृणित कृत्य को अंजाम देकर भारत को ललकारा गया है।हम सभी मोदी सरकार से अपेक्षा करते हैं कि सीआरपीएफ जवानों के इस शहादत का बदला देश जरूर लेगा।

आगे कैंडल मार्च में शामिल अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं ने कहा कि यह केवल आतंकी घटना नही है। यह भारत की संप्रभुता पर हमला है।भारत के शौर्य को ललकारा गया है।इस दौरान भारत माता की जय, वीर शहीद अमर रहें,आतंकवाद का खात्मा होकर रहेगा आदि के नारे लगाकर भी लोगों ने शहीदों को नमन किया।

मौके पर नगर सह मंत्री रंजन सिंह, सह मंत्री लवजी केशरी, पंकज कुमार, राज केशरी, रामनवमी समिति अध्यक्ष आकाश कुमार राजा केशरी,पंकज सिंह राजपूत,अभिनाश सिंह, अमर चौबे,राजू रोक केशरी,सूरज चुधरी,गोलू सिंह,मिथलेश कुशवाहा,रामकृष्ण प्रसाद मोहन प्रसाद,अखिलेश सिंह,लाल साहेब,संजय भारती,अभिषेक हर्षवर्धन,सुरज कुमार राठी शशिकमल,मिलिंद चौधरी,मुन्ना चौधरी,विनय मिश्रा,अनुप पटेल,अर्जुन प्रसाद,राजेंद्र मौर्य,आकाश कुमार,आदित्य कुमार, अर्जुन शर्मा,अमर चौबे,अभिनाश सिंह,मोनु निराला,पंकज कुमार,विवेक गुप्ता,रजत सोनी,दिपक गुप्ता,बंटी मिश्रा,अरुण सिंह,रंजीत महतो, तन्नू कुमार, कुंदन चौबे,अमर चौबे,राजू मिश्रा समेत सैकड़ों लोग मौजूद थे।