सड़कों के बाद अब मोतीझील के अतिक्रमणकारियों के खिलाफ होगी कार्रवाई : डीएम

चंपारण / राजन दत्त द्विवेदी: मोतिहारी डीएम शीर्षत कपिल अशोक शहर के सड़कों को अतिक्रमण मुक्त करने के बाद अब मोतीझील के अतिक्रमणकारियों के खिलाफ सख्त हो गए हैं। मोतीझील हटाने को लेकर डीएम ने उच्च स्तरीय बैठक कर पूर्व में नगर परिषद क्षेत्र से हटाए गए अतिक्रमण की भी गहन समीक्षा की। साथ ही शहरी क्षेत्र के अतिक्रमण क्षेत्र में अविलंब पीलरींग करने का निर्देश कार्यपालक अभियंता आरसीडी ,एनएचएआई पीडी को दिया। कहा जिन्होंने भी अतिक्रमण किया है। उन पर अतिक्रमण बाद का मुकदमा चलेगा । उन्होंने अंचल अधिकारी को निर्देश दिया है कि वह ऐसे व्यक्ति को चिन्हित करते हुए उन पर एफ आई आर दर्ज करें और साथ ही उन पर सर्टिफिकेट केस करें। उनके द्वारा अतिक्रमण किए गए जगह से अतिक्रमण हटाने पर जो खर्च आया है ।उनसे सर्टिफिकेट केस के माध्यम से वसूली की जाएगी।



अतिक्रमण हटाने में पर्याप्त फोर्स की व्यवस्था पुलिस अधीक्षक करेंगे अनुमंडल पदाधिकारी ने बताया कि मोतीझील में 158 व्यक्ति द्वारा अतिक्रमण किया गया है । जिसका बड़े-बड़े पोस्टर हार्डिंग के माध्यम से अतिक्रमण कारी को मोती झील से अतिक्रमण हटा लेने की सूचना दी गई है। जिलाधिकारी ने कहा है कि अपर समाहर्ता डीसीएलआर बुडको की अभियंता नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी संयुक्त रूप से सर्वे कर अतिक्रमण हटाने का कार्यक्रम बनाएंगे। जिलाधिकारी ने सभी अतिक्रमणकारियों को नोटिस करने का निर्देश दिया है। जिलाधिकारी ने कहा है कि अतिक्रमण हटाते समय यदि अतिक्रमण कारी की कोई व्यक्तिगत संपत्ति नष्ट होती है तो उसकी सारी जवाबदेही उनकी होगी ,अन्यथा वे पूर्व से ही अतिक्रमण हटा लें ।

सरकारी जमीन से अतिक्रमण हटाने का जो खर्च आएगा वह अतिक्रमण कारी से वसूल की जाएगी 28 जनवरी से अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई प्रारंभ की जाएगी। डीएम ने अनुमंडल पदाधिकारी को निर्देश दिया है कि पूर्व में सरकारी जमीन से हटाए गए अतिक्रमण की जगह पर तुरंत आरसीडी और एनएचएआई के अभियंता पीलरींग का कार्य छतौनी चौक, बरियारपुर एवं अन्य जगहों में करा लें। इस कार्य को सर्वोच्च प्राथमिकता दें।सात दिन के अंदर अतिक्रमण हटाने का सर्वे कर प्रस्ताव अपर समाहर्ता, डीसीएलआर हाउस टू हाउस का देंगे।

पूर्व से ही अतिक्रमण किए गए जगहों का मार्किंग करा लें। पर्याप्त जेसीबी ,कटर और मजदूरों की व्यवस्था करें और इस कार्य को संपन्न कराएं ।रोइंग क्लब के नजदीक जो अतिक्रमण है उसे भी तुरंत हटा दें। बरियारपुर गांधी चौक से छतौनी तक डिवाइडर का निर्माण कराने के लिए आरसीडी के अभियंता आवश्यक कार्रवाई करें। बैठक में अपर समाहर्ता, अनुमंडल पदाधिकारी, डीसीएलआर सदर, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी अंचलाधिकारी समेत अन्य प्रशासनिक पदाधिकारी मौजूद थे।