लोकतंत्र में अपनी बात को पहुंचाने का हक सभी जनमानस को है- अजीत कुमार झा

0
494

शिवहर/रंजीत मिश्रा: लोकतंत्र में अपनी बात को पहुंचाने का हक सभी जनमानस को है लेकिन जिले के सर्वोच्च पद पर बैठे जिलाधिकारी को अपमानित करना न्यायोचित नहीं है, उक्त संबोधन पूर्व विधायक अजीत कुमार झा ने प्रेस वार्ता कर बताया है।

उन्होंने घटित घटना की घोर निंदा करते हुए कहा है कि जो घटना घट गई पहल कर समाधान ढूंढ लिया जाना चाहिए कहीं देर ना हो जाए शिवहर की बदनामी होने में।

वकालत के माध्यम से जनमानस का गलत सही फैसला के लिए संघर्ष करते न्यायालय में देखा गया है अधिवक्ताओं को वहीं जिला के शासक अपने जिला के समस्या के निदान के लिए, सरकारी योजनाओं को पहुंचाने को लेकर दिन रात कठिन परिश्रम करते देखा गया है।

पूर्व विधायक झा ने अपील किया है कि बुद्धिजीवी वर्ग समाज की प्रगति के लिए काफी प्रयत्नशील रहते है , हमारे जिला के अधिवक्ता गण विद्वान व बुद्धिजीवी हैं, अधिवक्ताओं के कठिन परिश्रम तथा उनके कर्मठता और इमानदारी पर शक नहीं करना चाहिए जबकि जिला प्रशासन के प्रमुख जिलाधिकारी के कर्मठता एवं इमानदारी पर भी शक नहीं किया जा सकता , जिला पदाधिकारी हमेशा जिला की भलाई के लिए चिंतित रहते हैं।

उन्होंने डीएम अरशद अजीज के बारे में बताते हुए कहा है कि जब शिवहर जिला का स्थापना हो रहा था तो वे शिवहर में ही अंचलाधिकारी के पद पर आज से 30 साल पूर्व कार्यरत थे, अगर उनकी कर्मठता और ईमानदारी पर सरकार को शक होता तो वे शिवहर के डीएम नहीं होते।

पूर्व विधायक झा ने कहा है कि मैं उनको बचपन से ही जानता हूं ,वे निर्भिक एवं सहनशील तथा ईमानदार एवं कर्मठ प्रशासक है उन्होंने दावा किया है कि उनकी ईमानदारी एवं कर्मठता पर किसी को शक नहीं होना चाहिए।

वहीं अधिवक्ताओं को विद्वान कहते हुए जनमानस का चिंतक बताया है,पूर्व विधायक अजीत कुमार झा ने अनुरोध करते हुए प्रार्थना किया है कि ऐसा काम न करे जो बात का बतंगड़ हो जाए और हमारे शिवहर की बदनामी हो इससे पहले आपस में बैठकर समाधान ढूंढ लिया जाना चाहिए।