आरा: मध्य विद्यालय के बच्चों को किया गया सम्मानित

0
254

आरा(अभिषेक हर्षवर्धन): भोजपुर जिले के जगदीशपुर के मध्य विद्यालय बभनियांव के प्रांगण में छात्र- छात्रा सम्मान समारोह कायर्क्रम आयोजित किया गया।जिसका विधिवत उद्घाटन जगदीशपुर प्रखंड विकास पदाधिकारी कृष्ण मुरारी एवं जिला कार्यक्रम पदाधिकारी रामाधार शर्मा ने संयुक्त रूप से फीता काटकर किया।संचालन बिहार राज्य प्रारंभिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष पंकज कुमार सिंह मंटु ने किया।शिक्षक शिवजी पांडेय ने स्वागत गीत गाकर अतिथियों का स्वागत किया।सर्वप्रथम विद्यालय की छात्रा वागिशा सिंह एवं रौशनी कुमारी ने राष्ट्रीय गीत पर अपनी कला का प्रदर्शन कर अतिथियों से वाह-वाही लूटी।

अतिथियों द्वारा सैकड़ों छात्र-छात्रा को उनके अनुशासन,पढ़ाई एवं कलात्मक रूचियों को विकसित करने के लिए मेडल एवं प्रशस्ति पत्र से सम्मानित किया गया।बीडीओ ने स्कूल प्रबंधन को ऐसे कार्यक्रम के आयोजन के लिए धन्यवाद देते हुए कहा कि ऐसे कार्यक्रमों के आयोजन से छात्र छात्राओं में शिक्षा के प्रति रुचि बढ़ती है।बच्चों को शिक्षा पर सबसे ज्यादा फोकस करने का सलाह देते हुए उन्होंने कहा कि इस दुनिया में शिक्षा का कोई विकल्प नहीं है।वहीं मौके पर उपस्थित बिहार राज्य प्रारंभिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष पंकज कुमार सिंह मंटु ने कहा कि बच्चों के दिमाग को विकसित करने के लिए किताबी पढ़ाई के अलावा उनके कलात्मक रूचियों को विकसित करने के लिए तरह-तरह का प्रायोजन किया जाना चाहिए।आगे जिलाध्यक्ष ने कहा कि विद्यालय संचालन के लिए राज्य सरकार तरह-तरह के युक्तियों का प्रयोग करती है जबकि विद्यालय के ससमय संचालन का एकमात्र उपाय ससमय वेतन भूगतान है।

भूखे पेट रहकर इन्सान का दिमाग सही तरीके से काम नही कर सकता।आज विद्यालय परिवार के द्वारा विभिन्न वर्गों के कुल 52 बच्चों को मेडल एवं प्रशस्ति पत्र से तथा सम्मानित अतिथियों को बुके एवं माला से सम्मानित किया गया।इस दौरान संकुल समन्वयक एवं विद्यालय परिवार के द्वारा प्रितीभोज का भी आयोजन किया गया था।वहीं उपस्थित प्रतिनिधियों ने कहा कि ऐसे परम्परा की शुरुआत सभी सरकारी विद्यालयों में होना चाहिए ताकि बच्चों को शिक्षा उबाऊ महसुस नही हो।जिला कार्यक्रम पदाधिकारी (मध्याह्नन भोजन)रामाधार शर्मा ने कहा कि शिक्षा के बढ़ावे के लिए शिक्षक,बच्चे एवं अभिभावकों के बीच सामंजस्य स्थापित होना चाहिए।बच्चों की बेहतरी के लिए सबसे अधिक जिम्मेवार उनके माता-पिता है। प्रधानाध्यापक हरेन्द्र कुमार ने आगत अतिथियों को धन्यवाद ज्ञापित किया।

सभी कार्यक्रम शारीरिक शिक्षक जयप्रकाश जी के देख-रेख में सम्पन्न हुआ।इस अवसर पर मुखिया प्रतिनिधि हरेराम यादव,पंचायत समिति प्रतिनिधि हरेन्द्र यादव,ब्यास शिरोमणि नन्द कुमार सिंह, शारीरिक शिक्षक जयप्रकाश, जिला सचिव उपेन्द्र कुमार सिंह,हरेन्द्र कुमार सिंह,संकुल समन्वयक संजीव कुमार, कृष्ण मोहन चौबे,विजय कुमार शर्मा,धर्मेंद्र कुमार सिंह,विजय शंकर सिंह उर्फ मुन्ना जी,अभिषेक कुमार सिंह,रामनिवास सिंह,सत्येन्द्र कुमार,संजय कुमार,   मृत्युन्जय चौधरी,धन्नजय कुमार सिंह,संजीव कुमार, कंचनमाला कुमारी,आशा कुमारी,वन्दना कुमारी,सत्येन्द्र कुमार,किंग अभिषेक क्षत्रप,सचिव जयप्रकाश ठाकुर,शिक्षक चन्द्रदेव कुमार सिंह,कमलेश कुशवाहा, अरविंद कुमार सिंह,शिवजी पाण्डेय,राधेश्याम सिंह,राजेश कुमार रंजन,रामनिवास सिंह,अमरेन्द्र कुमार सिंह,शशिभूषण पाल,विनोद कुमार राम,उमेश चौधरी सहित सैकड़ों गणमान्य प्रतिनिधि एवं शिक्षक उपस्थित थे।