आरा: पाक प्रधानमंत्री का पुतला फूंक शिक्षकों ने कहा- शहीदों का बलिदान व्यर्थ नही जाना चाहिए

0
82

आरा,जगदीशपुर/(अभिषेक हर्षवर्धन): CRPF जवानों पर आतंकी हमले को लेकर पूरे देश के लोगों का गुस्सा उबाल पर है। लोग दोषियों को नेस्तनाबूद करने की मांग सरकार से लगातार कर रहे हैं तो भला समाज के रीढ़ कहे जाने वाले शिक्षक भला क्यों पीछे रहते। रविवार को बिहार राज्य प्रारंभिक शिक्षक संघ जगदीशपुर, भोजपुर के नेतृत्व में सैकड़ों शिक्षकों ने भी पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का पुतला दहन कर अपना आक्रोश व्यक्त किया।

पुतला दहन से पहले नगर के सवारथ साहु उच्च विद्यालय के क्रीड़ा मैदान से जुलुस की शक्ल में शिक्षकों का जत्था थाना रोड, कोतवाली, दुलौर गली, सदर बाजार होते कुँवर सिंह किला मैदान के मेन गेट पर पहुंचा।तत्पश्चात पाकिस्तान विरोधी नारों के साथ,वंदे मातरम, भारत माता की जय, शहीदों हम शर्मिंदा हैं, तेरे कातिल जिंदा हैं आदि नारों के साथ शिक्षकों ने पाक प्रधानमंत्री इमरान खान का पुतला दहन किया। वहीं पुतला दहन के पूर्व एक मिनट का मौन रखकर शहीदों के आत्मा की शान्ति के लिए ईश्वर से प्रार्थना भी किया गया। पुतला दहन का नेतृत्व संघ के प्रखंड अध्यक्ष किंग अभिषेक क्षत्रप एवं सचिव जयप्रकाश ठाकुर कर रहे थे।

पुतला दहन कार्यक्रम को संबोधित करते हुए संघ के जिलाध्यक्ष पंकज कुमार सिंह मंटु ने कहा कि पुरा देश शहीदों के साथ खड़ा है। शहीदों के सम्मान के लिए उनका बलिदान व्यर्थ नही जाना चाहिए। इस तरह के कायराना आत्मघाती कदम की हम घोर निन्दा करते हैं। इससे शिक्षक समाज काफी मर्माहत एवं शोकाकुल है। शिक्षकों ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से अपील करते हुए कहा कि अब समय आ गया है कि पाकिस्तान का नामो निशान मिटा दिया जाए। आज पुरा देश उन शहीदों के परिवार के साथ खड़ा है। वहीं मंटु ने माँग किया की हर शहीद के परिवार को एक करोड़ रुपया और उनकी पत्नी को पेंशन लागू किया जाना चाहिए।साथ ही उनके बच्चों को अच्छी परवरिश मिले इसका भी ख्याल रखा जाना चाहिए।

पुतला दहन कार्यक्रम में कमलेश कुशवाहा, चन्द्रदेव कुमार सिंह, सत्येन्द्र कुमार, अरविंद कुमार, विरेन्द्र कुमार सिंह, संतोष चौधरी, शिवजी रजक, सुनील कुमार सिंह, जिला सचिव उपेन्द्र कुमार सिंह, नागेन्द्र सिंह, राजेश कुमार रंजन, शशिभूषण पाल, विनोद कुमार राम, ईश्वर चन्द्र  यादव, हसामुदीन अंसारी, उपेन्द्र कुमार, दीप कुमार प्रसाद, नागेन्द्र सोनवर्षा, गुंजन कुमार, धुरेन्द्र कुमार, रमेश कुशवाहा, उमाकांत ठाकुर, गुप्तेश्वर चौधरी, संजय कुमार, मिलन सिंह, अमरेन्द्र कुमार, पिन्टु ठाकुर, चन्देश्वर सिंह, संतोष चौधरी, चन्द्रभूषण पाण्डेय, जयनाथ चौधरी, सुमन कुमार, उमेश चौधरी, जयप्रकाश, धर्मेंद्र कुमार सिंह, मृत्युन्जय चौधरी, कन्हैया कुमार, धुरेन्द्र कुमार, उदित कुमार राम, अजय कुमार सिंह, विरेन्द्र कुमार सिंह, तुलसी सिंह, रवि कुमार, संतोष कुमार, नगर अध्यक्ष सुनील कुमार सिंह, मोहम्मद साबिर सहित सैकड़ों शिक्षक उपस्थित थे।