36.1 C
Delhi
Homeबिहारबेगूसराय : कांग्रेस ने बांग्लादेश मुक्तिसंग्राम विजय दिवस पर इंदिरा गांधी के...

बेगूसराय : कांग्रेस ने बांग्लादेश मुक्तिसंग्राम विजय दिवस पर इंदिरा गांधी के ऐतिहासिक कार्यों का किया उल्लेख

- Advertisement -spot_img

बेगूसराय/विनोद कर्ण : सदर प्रखंड के कैथ गांव में ऐतिहासिक बांग्लादेश मुक्तिसंग्राम विजय दिवस की 50वीं वर्षगांठ के मौके पर जिला कांग्रेस अध्यक्ष अर्जुन सिंह की अध्यक्षता में मंगलवार को कार्यक्रम आयोजित की। विजय दिवस कार्यक्रम में श्रीमती इंदिरा गांधी की भूमिका पर परिचर्चा रखा गया।

इस मौके पर जिलाध्यक्ष श्री सिंह ने कहा कि दुनिया की बड़ी-बड़ी ताकतों के दबाव और देश में मौजूद आंतरिक मुश्किलों के बाद भी लौह महिला श्रीमती इंदिरा गांधी के नेतृत्व में भारत ने अपने कठोर दृढ़ निश्चय से पाकिस्तान को सबक सिखाया। देश के वीर सैनिकों के साहसिक कार्य के बदौलत बांग्लादेश के रूप में एक नए देश को अस्तित्व में लाकर दुनिया का भूगोल बदल दिया।

कांग्रेस पार्टी इंदिरा जी की निर्णय क्षमता और उस लड़ाई में शहीद सैनिकों के सम्मान में बांग्लादेश मुक्ति स्मरणोत्सव कर रही है। कार्यक्रम के जिला प्रभारी व संयोजक अविनाश झा ने कहा कि बांग्लादेश की आजादी के लिए तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की दूरदर्शिता और हमारे सैनिकों का सर्वोच्च वलिदान दुनिया के इतिहास में एक मिसाल है जो कहीं और देखने को और नही मिलती है।

कांग्रेस पार्टी इन कार्यक्रमों के माध्यम से तत्कालीन सैनिक परिवारों को सम्मानित करते हुए श्रीमती गांधी की दृढ़ निश्चयी छवि से आज की पीढ़ी को अवगत करा रही है। इस दौरान कांग्रेस नेता केडी हिमांशु, महिला जिलाध्यक्ष रूबी शर्मा, शशि शेखर राय, डॉ. केके राय, सेवादल अध्यक्ष जय प्रकाश साह, ओमप्रकाश सिंह, रामप्रकाश सिंह, शिक्षक प्रकोष्ठ जिलाध्यक्ष दिवाकर सिंह, जिला संयोजक पप्पू सिंह, विकास झा, सावर कुमार आदि जिला नेताओं ने अपनी बात रखते हुए अपने प्रिय नेता श्रीमती गांधी को याद करते हुए कहा कि इंदिरा गांधी जी को इस युद्ध में उनकी भूमिका के लिए विपक्ष के नेताओं तक ने दुर्गा की उपाधि से विभूषित किया था।

इतिहास में ऐसे उदाहरण विरले ही मिलते हैं कि तब के तत्कालीन ताकतवर अमेरिकी राष्ट्रपति निक्सन की घुड़कियों को नजरअंदाज करते हुए किसी देश का प्रधानमंत्री इतना बड़ा फैसला ले सकता था। इंदिरा जी ने इस दौर में न सिर्फ पाकिस्तान को सबक सिखाया बल्कि निक्सन जैसे राष्ट्रपति का फोन अटेंड न करते हुए अमेरिका को भी घुटनों पर ला दिया। कार्यक्रम में इन नेताओं के अलावा रामपदारथ यादव, नूतन देवी, कमल किशोर पोद्दार, रामप्रकाश यादव, राम उदय साह, रामचन्द्र मोची, विजय शर्मा, प्रिन्स कुमार, अवधेश पासवान, मोहन पासवान, राघव कुमार, प्रभांशु विट्टू, भासों ताँती, अनिल कुमार, नीरज कुमार सहित सैकड़ों कांग्रेस कार्यकर्ता मौजूद रहे।

- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -