Bihar: मुख्यमंत्री के आगमन से महज 24 घण्टे पहले दो लोगों की हत्या से थर्राया मोजम पट्टी

-अभेद सुरक्षा में तब्दील धमदाहा, मोजम पट्टी में दिनदहाड़े गैंगवार
-किसी बड़ी घटना की आशंका से दहशत में ग्रामीण
-घटनास्थल पर भारी संख्या में पुलिसबल तैनात



पूर्णिया/ राजेश कुमार झा: आज बुधवार को दिनदहाड़े हुए गैंगवार में 2 लोगों की गोली मारकर हत्या कर दी गई. घटना धमदाहा अनुमंडल के रघुवंशनगर ओपी की है. दोपहर में मौजमपट्टी गांव स्थित राजघाट नहर से कुछ दूर आगे एक ऑटो को रोककर अपराधियों ने चालक अरुण कुमार यादव को गोलियों से भून दिया.

घटना से आक्रोशित मृतक के गुट के अपराधियों ने कुख्यात बुचन यादव के भतीजे रुकेश यादव (25) को गोली मारकर हत्या कर दी. इधर घटना की सूचना मिलते ही धमदाहा SDPO दलबल के साथ मौके पर पहुंच गए और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. SDPO रमेश कुमार ने बताया कि रघुवंशनगर ओपी क्षेत्र में हुई गोलीबारी में दो लोगों की मौत हो गई है.

पुरानी रंजिश में वारदात को अंजाम दिया गया है. मामले में कुछ लोगों से पूछताछ की जा रही है. अपराधियों की तलाश में पूर्णिया और मधेपुरा समेत आसपास के क्षेत्रों में छापेमारी चल रही है. बताते चलें कि रघुवंशनगर ओपी क्षेत्र में हुए इस गैंगवार में महज आधे घंटे के अंदर 2 लोगों की हत्या के बाद इलाके में हड़कंप मच गया.

पहली घटना में अपराधियों ने ऑटो चालक अरुण यादव को राजघाट नहर से कुछ दूर आगे बीच रास्ते में हथियार के बल पर रोका.इसके बाद ऑटो से उतार कर उसे गोलियों से भून दिया. पुलिस को यहां से 2 खोखे मिले हैं. इस घटना के महज आधे घंटे के बाद दूसरे गुट के अपराधियों ने मौजमपट्‌टी-कोरियारही गांव के बीच रास्ते में बाइक रोककर खड़े कुख्यात बुचन यादव के भतीजे रूकेश कुमार यादव को गोली मार दी. यहां से पुलिस ने एक गोली और 7 खोखा बरामद किया.

पत्नी और मासूम बच्चे के सामने मारी गोली:

रूकेश कुमार यादव बाइक से अपनी पत्नी,बच्चे और बहन के साथ घर लौट रहा था.तभी मौजमपट्‌टी और कोरियारही गांव के बीच उसकी पत्नी ने मासूम बच्चे (9 माह) को दूध पिलाने के लिए गाड़ी रोकने को कहा.इसी बीच अरुण यादव की मौत से बौखलाए उसके गुट के अपराधियों की नजर उन लोगों पड़ी. अपराधियों ने बाइक रोककर रूकेश पर हथियार तान दिया. तभी उसकी पत्नी दौड़ती हुई आई और अपराधियों का पैर पकड़ लिया.महिला अपने पति की जान की भीख मांगने लगी. लेकिन, प्रतिशोध की आग में जल रहे अपराधियों ने उसकी एक न सुनी और रूकेश को गोलियों से भून दिया.

मृतक रूकेश यादव कुख्यात साहिल सौरभ का चचेरा भाई था.साहिल सौरभ (पिता- बुच्चन यादव) को 19 मार्च 2020 को STF ने पटना से गिरफ्तार किया था. ग्रामीणों का कहना है साहिल के पिता बुच्चन यादव और अखिलेश यादव गिरोह के बीच सालों से रंजिश चल रही है. आशंका है कि इसी रंजिश में दोनों घटनाएं हुई हैं।

किसी बड़ी अनहोनी से दहशत में है मोजम पट्टी के लोग:
मौजमपट्‌टी गांव में पिछले दो साल में तीसरी बार खूनी वारदात हुई है. 2 लोगों की मौत के बाद ग्रामीण एक बार फिर से सहम गए हैं. गोलीबारी के बाद लोग घर से बाहर तक नहीं निकल रहे हैं. इससे पहले 11 फरवरी 2019 की रात में बुच्चन और अखिलेश यादव गिरोह के बीच जमकर गोलीबारी और बमबाजी हुई थी. इसमें बुच्चन यादव घायल हो गया था और एक महिला की मौत हो गई थी. इस घटना के बाद बुच्चन गिरोह के सदस्यों ने 23 मार्च 2019 को सरेशाम 3 लोगों को गोलियों भून दिया था.

इसमें कुख्यात साहिल सौरभ मुख्य नामजद आरोपी बनाया गया था. फिलहाल वह जेल में सजा काट रहा है. बुच्चन यादव की पिछले साल ही इलाज के दौरान मौत हो गई थी.