बक्सरः वीर कुवंर सिंह विवि लोक सूचना पदाधिकारी और प्राचार्य के बीच घमासान

0
55

बक्सर (विक्रांत): डुमरांव डी.के. कालेज के छात्र लक्ष्मण कुमार द्वारा आरटीआई के तहत कालेज के विभिन्न भवनों के निर्माण कार्य, छात्र संघ के हुए चुनाव में खर्च एवं अन्य विकास कार्यो में किए खर्च को लेकर मांगे गए ब्योरे के सवाल पर विवि लोक सूचना पदाधिकारी और प्राचार्य के बीच अप्रत्यक्ष रूप ठन गया है। डी. के. कालेज के प्राचार्य डा.धीरेन्द्र सिंह ने पूरे मामले के संर्दभ में लोक सूचना पदाधिकारी को अवगत कराते हुए कहा है कि लक्ष्मण कुमार द्वारा साक्ष्य आधारित मांगी सूचनाएं उन्हंे कार्यालय द्वारा 13 फरवरी,2019 को स्पीड पोस्ट के माध्यम से भेजी जा चुकी है।

जिसकी प्रतिलिपी विश्व विद्यालय को भी भेजी जा चुकी है। प्राचार्य ने दी गई सफाई में साफ कहा है कि गत 15 फरवरी को लक्ष्मण कुमार को स्पीड पोस्ट के माध्यम से साक्ष्य आधारित मांगी गई सूचना पोस्ट आफिस के माध्यम से भेजा गया था। पर पोस्ट आफिस ने किसी अन्य लक्ष्मण कुमार को हस्तगत करा दिया। बाद में पोस्ट आफिस ने जांचोपरांत अपने प्रतिवेदन के साथ 21 फरवरी को लौटा दिया। दोबारा आवेदक के पता पर सूचनाएं भेजी जा चुकी है।

दूसरी तरफ प्राचार्य ने मिडीया में आई खबर पर आश्चर्य व्यक्त किया है कि विश्व विद्यालय के द्वारा 22-23 फरवरी,2019 तक को भेजी गई कारण-पृच्छा विश्व विद्यालय के निर्धारित मेल अथवा किसी अधिकृत व्यक्ति से नहीं मिला। लेकिन मिडीया के माध्यम से प्रसारित हो गया। मिडीया में कैसे पंहुचा। यह एक यक्ष सवाल खड़े हो गए है। प्राचार्य ने लोक सूचना पदाधिकारी को इंगित करते हुए कहा कि लोक सूचना पदाधिकारी की नियत में खोट है एवं आवेदक से कही न कहीं व्यक्तिगत रूप से प्रभावित है।