28.1 C
Delhi
Homeबिहारबक्सरउप्र के पाठ्य पुस्तक में प्रकाशित एंकाकी नाटक ऐतिहासिक पुरूष ‘कीरत बारी‘...

उप्र के पाठ्य पुस्तक में प्रकाशित एंकाकी नाटक ऐतिहासिक पुरूष ‘कीरत बारी‘ को जूठन उठानें वाला वर्णित किए जाने पर मचा बवाल

- Advertisement -

महाराणा प्रताप सिंह के पिता उदय सिंह के जीवन रक्षा पर आधारित लेखक डॉ. रामकुमार वर्मा द्वारा रचित ‘दीपदान‘ एंकाकी
एंकाकी नाटक ‘दीपदान‘ के पात्र कीरत बारी को जूठन उठाने वाले के रूप में चित्रित किए जाने पर समग्र बारी समाज के लोगों ने मानव संसाधन मंत्रालय के बेवसाईट पर दर्ज कराई आपति

14 जुलाई 2021,बक्सर/विक्रांत। ऐतिहासिक पुरूष महाराणा प्रताप सिंह के पिता महाराणा उदय सिंह के जीवन रक्षा पर आधारित विद्वान लेखक राम कुमार वर्मा द्वारा लिखीत एंकाकी नाटक ‘दीपदान‘ में ऐतिहासिक पुरूष कीरत बारी को जूठन उठाने वाला पात्र वर्णित किए जाने पर बारी समाज के लोगो के बीच रोष के साथ क्षोभ व्याप्त है। उतर प्रदेश के कक्षा 9 के हिन्दी पाठ्य पुस्तक में बच्चों के बीच पढ़ने के लिए परोसे गए एकांकी नाटक दीपदान से कीरत बारी को जूठन उठाने वाले शब्द पर समग्र बारी समाज द्वारा आपति जतानें का सिलसिला जारी है।

उतर प्रदेश, मध्य प्रदेश एवं बिहार प्रदेश के बारी जाति के विभिन्न सामाजिक संगठनो से जुड़े नेताओं ने मानव संसाधन विकास मंत्रालय, नई दिल्ली के बेवसाईट पर ऑनलाईन आपति दर्ज कराया है। दर्ज आपति में अपमान सूचक शब्द जूठन उठाने वाले को बदलकर व संशोधित करते हुए कीरत बारी गुप्तचर, अंगरक्षक एवं स्वामीभक्त शब्द से सुशोभित करनें की गुहार मानव संसाधन विकास मंत्रालय के समक्ष लगाई है। बारी समाज के लोगों का कथन है कि लेखक ने राजस्थान की ऐतिहासिक खोज में चूक की है। वीर साहसी कीरत बारी को अपमानित करने के आलावे संपूर्ण बारी समाज को आहत किया है।

मानव विकास मंत्रालय के पास बाराणसी के दीपेन्द्र विद्यार्थी, अखिल भारतीय बारी संघ के महासचिव अधिवक्ता त्रिलोकी प्रसाद, महाराष्ट्र से रूपन बारी, बाराणसी से मनबोध रावत, कानपुर से रामलखन बारी, बिहार राज्य बारी संघ के अध्यक्ष रामधनी भारती, अखिल भारतीय बारी संघ के संगठनमंत्री अरूण कुमार विक्रांत,झारखंड स्थित पलामू से ए.के.कालेज के हिन्दी विभागाध्यक्ष डॉ.आलोक रंजन बारी, वीर राजकिशोर बारी, बारी समाज के अनिल कुमार, दीव्य प्रकाश, मध्यप्रदेश भोपाल के डॉ.अरूण वर्मा, एन.के.वर्मा, बक्सर से दिलीप कुमार, शिक्षक अजय विक्रांत उर्फ पप्पू, भावप्रकाश रावत, शिक्षक रतन रावत, अवकाश प्राप्त पुलिस इंसपेक्टर जगदीश रावत एवं श्रीभगवान रावत सहित सैकड़ो लोगो ने मानव संसाधन मंत्रालय के बेवसाईट पर आपति दर्ज कराते हुए ऐतिहासिक पुरूष कीरत बारी के सम्मान को गुहार लगाई है।

यह भी पढ़े-

- Advertisement -



- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -