29.1 C
Delhi
Homeबिहारबक्सरडुमरांव के वयोवृद्ध पार्टी के नेंता सत्यनारायण प्रसाद को सीपीआई के राज्य...

डुमरांव के वयोवृद्ध पार्टी के नेंता सत्यनारायण प्रसाद को सीपीआई के राज्य सचिव के नेतृत्व में सम्मानित किया गया

- Advertisement -

बक्सर,15 सितम्बर(विक्रांत) : पुराने शाहाबाद जिला के नामचीन राजनीतिक व्यक्तित्व में शुमार है डुमरांव के सत्यनारायण प्रसाद। राजनीतिक दल सीपीआई का लगातार 66 सालों से दामन थामें एवं पार्टी के विभिन्न पद का दायित्व संभालते हुए शारीरिक रूप से कमजोर हो चुके वयोवृद्ध सत्यनारायण प्रसाद उर्फ दादा को सीपीआई द्वारा सम्मानित किया गया।सीपीआई के राज्य सचिव सह पूर्व विधायक रामनरेश पांडेय के नेतृत्व में प्रगति लेखक संघ के राष्ट्रीय महासचिव प्रो. रविन्द्र राय,पूर्व सांसद तेजनारायण सिंह, इस्फाक सह एआईएसएफ के पूर्व राष्ट्रीय महासचिव रविन्द्र राय एवं पूर्व सांसद नागेन्द्र नाथ ओझा द्वारा उनके डुमरांव नगर के चौक रोड स्थित आवास पर पंहुच कर सम्मानित किया गया।

राष्ट्रीय नेंताओं द्वारा करीब 90 बर्षीय सत्यनारायण प्रसाद को मार्ल्यापण कर एवं अंगबस्त्र भेंट कर सम्मानित किया गया। इस मौंके पर मिडीया से रूबरू सीपीआई के राज्य सचिव सह पूर्व विधायक रामनरेश पांडेय ने कहा कि वर्तमान परिवेश में सत्यनारायण प्रसाद जैसे व्यक्तित्व का मिलना कठिन है। लगातार 66 सालों तक विभिन्न परिस्थितियों का सामना करते हुए एक राजनीतिक दल सीपीआई का दामन थामे खड़ा रहने वाले नेंता सत्यनारायण प्रसाद को सलाम करता हूं।उन्होनें कहा कि पार्टी की आगामी दिनों भागलपुर में आयोजित नेशनल कंफ्रेंस के बीच डुमरांव के सत्यनारायण प्रसाद उर्फ दादा को सम्मानित किया जाएगा।

अखिल भारतीय खेतीहर मजदूर यूनियन के राष्ट्रीय महासचिव सह पूर्व सांसद नागेन्द्र नाथ ओझा ने कहा कि विगत 1955 में छात्र जीवन काल से ही सीपीआई का दामन थाम लगातार एक ही दल में बने रहने वाले नेंता सत्यनारायण प्रसाद का व्यक्तित्व वर्तमान राजनीतिक परिवेश के बीच पार्टी के लिए एक अनूठा मिशाल है। पूर्व सांसद तेजनारायण सिंह ने कहा कि श्री प्रसाद के राजनीतिक अनुभव का लाभ आज भी हम सभी को मिलता है।उनके समकक्ष का नेंता अब पुराने शाहाबाद जिला में नहीं है। उन्होनें श्री प्रसाद के स्वास्थ के लिए कामना की।प्रलेस के पूर्व राष्ट्रीय महासचिव ने कहा कि सत्यनारायण प्रसाद ने अपने नाम के अनुसार समाज एवं दल के बाहर व भीतर योगदान देने का काम किया है।आज की तारीख में ऐसे व्यक्तित्व को मुझे देखने व सुनने का सौभाग्य प्राप्त हुआ है।

पार्टी के राष्ट्रीय नेंताओं से सम्मान पाकर वयोवृद्ध सीपीआई नेंता श्री प्रसाद की आंखे नम हो उठी। उन्होनें नम आंखों से मौंके पर मौजूद नेंताओं से दो टूक कहा कि राजनीतिक धारा को समाज हीत में बरकारार रखने का आग्रह किया।
इस मौंके पर नागेन्द्र मोहन सिंह,ओमप्रकाश सिंह, निर्वतमान जिला परिषद सदस्य केदार यादव, शमीम मंसूरी, ज्योतिश्वर सिंह,सुदामा चौधरी एवं जीतेन्द्र सिंह आदि मौजूद थे।

बता दें, वयोवृद्ध सीपीआई नेंता काफी दिनों से अस्वस्थ हालत में ईलाजरत है। बावजूद श्री प्रसाद का दिल व दीमाग राजनीतिक एवं सामाजिक गतिविधियों में बना रहता है। अस्वस्थता के बावजूद करीब 90 बर्ष की उम्र में भी अपने गांव-शहर की सामाजिक, राजनैतिक, सांस्कृतिक गतिविधियों की जानकारी नित्य विभिन्न समाचार पत्र-पत्रिकाओं के माध्यम से लेना नहीं उनकी दिनचर्या में शामिल है। श्री प्रसाद प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री सरदार हरिहर सिंह के खिलाफ चुनावी बर्ष 1967,69 एवं 1972 में डुमरांव-नावानगर विधान सभा क्षेत्र से पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ चुके है। तीन बार के विधान सभा के तीनो बार संपन्न चुनाव में दुसरे स्थान पर श्री प्रसाद बने रह गए। उन्होनें कांग्रेस के प्रत्याशी सरदार हरिहर सिंह के खिलाफ तीन बार विधान सभा का चुनाव लड़ा। बर्ष 72 के चुनाव में महज 370 मत से पराजित हो गए और वे विधायक बनते बनते रह गए।

यह भी पढ़े…

- Advertisement -


- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -