बक्सरः साहित्य एवं सांस्कृतिक गतिविधियों को बढ़ावा देने की जरूरत- डॉ.अजीत

बक्सर(विक्रांत): जिला प्रगति लेखक संघ, बक्सर के सौजन्य से शनिवार को डुमरंाव नगर के हरी जी हाता स्थित महेश बालिका विद्यालय के प्रांगण में आयोजित समारोह के बीच ‘कोरोना और कुर्सी‘ नामक व्यंग्य पुस्तक का विमोचन विधायक डा.अजीत कुमार सिंह द्वारा किया गया।इस मौके पर अपने संबोधन में विधायक डा.सिंह ने कहा कि साहित्य सृजन से समाज और राजनीति दोनों प्रभावित होता है।उन्होनें कहा कि वर्तमान परिवेश में महान साहित्यकार मुंशी प्रेमचंद के साहित्य पर खतरा मंडराने लगा है।



प्रेमचंद के साहित्य को समाप्त करने का कुत्सित प्रयास चल रहा है। उन्होनें कहा कि प्रबुद्ध नागरिको से चेतनशील होकर साहित्य एवं सांस्कृतिक गतिविधियों को बढ़ावा देने की अपील की और कहा कि साहित्यिक एवं सांस्कृतिक गतिविधियों में हर प्रबुद्ध एवं शिक्षित नागरिको को हिस्सा लेना चाहिए। विधायक ने ‘कोरोना और कुर्सी‘ नामक पुस्तक की रचनाकार शिक्षिका मीरा सिंह के प्रति साधुवाद व्यक्त करते हुए कहा कि साहित्य सृजन में महिला शिक्षिका मीरा सिंह का योगदान काफी प्रशंसनीय है।

समारोह का संचालन क्षेत्र के प्रख्यात साहित्यकार कुमार नयन ने समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि महिला साहित्यकार मीरा सिंह की व्यंगय आधारित तीसरी रचना कोरोना और कुर्सी सम सामयिक एवं शिक्षाप्रद है। समारोह की अध्यक्षता उषा रानी बालिका उच्च विद्यालय पूर्व प्रधानाध्यापिका पुष्पा कुमारी ने की। आगत अतिथियों का स्वागत डा.बी.एल.प्रवीण ने किया। समारोह को पवन नंदन केशरी, प्रदीप शरण,दशरथ प्रसाद विद्यार्थी, शिक्षिका अनिता यादव, मुक्तेश्वर प्रसाद, संतोष कुमार शर्मा, हर्षित पाठक, एकराम सिंह नीरज कुमार एवं भीम सिंह आदि ने संबोधित किया।