चंपारण: संवेदक की दबंगई से टुटे बांध की मरम्मती पर लग रहा है ग्रहण, ग्रामीणों ने निर्माण कार्य रोका

संग्रामपुर/प्रतिनिधि: प्रखण्ड के उत्तरी भवानीपुर पंचायत के निहालु टोला में गण्डक नदी के टूटे बांध निर्माण में अनियमितता का आरोप लगाते हुए ग्रामीणों ने निर्माण कार्य को रोका। ग्रामीण नूरहसन मिंया,शिबू ठाकुर,मनीष ठाकुर,मोहन तिवारी,मुनानी पासवान, शंकर मिश्र,बच्चा प्रसाद आदि ने बताया कि बांध निर्माण में मानक के अनुरूप कार्य नही हो रहा हैं। दीक्षित कंट्रक्शन लालगंज द्वारा कराए जा रहे इस कार्य से वैसे ही स्थानीय लोगो को जोड़ा गया हैं जिनकी भूमिका पूर्व से स्थानीय स्तर पर संदिग्ध रहीं हैं जिनका मंसूबा यहीं रहा हैं कि बाहर से कार्य करने आए संवेदकों को स्थानीय स्तर पर अपनी दबंगता का दबदबा दिखा कर काम को पेटी कांटेक्ट लेकर घोर अनियमितता करने की रही हैं।



विभागीय नियमावली के मुताबिक टूटे बांध के गढ़े में बाढ़ के समय से जमे मिट्टी को मशीन द्वारा निकाल कर उसके अगले बगल के गढ़ो को भरना हैं जिसमे घास फूस की गुजाइन्स नही रहें साथ ही गढ़ो में जाने वाली मिट्टी को प्रेसर मशीन से दबानी हैं ताकि बांध मजबूत व सुरक्षित बने लेकिन यहां तो दिख रहा कि बाढ़ में जमे मिट्टी को ही जेसीबी मशीन से इधर उधर करके उसमें बालू डालने की प्रक्रिया दिख रही हैं।जो बाढ़ के समय में एक बार फिर  बांध क्षतिग्रस्त हो सकता हैं।


इधर तटबंध टूटने के बाद बाढ़ विभीषिका का मंजर झेल चुके ग्रामीण संवेदक द्बारा कार्य शुरू करने की प्रक्रिया से नाराज हैं। कारण की संवेदक द्वारा इस कार्य को वैसे स्थानीय लोगो को सौंपा गया हैं जिनकी बांध की मरम्मती व पूर्व में बाढ़ कटाव रोधी कार्यो में भूमिका संदिग्ध रही हैं।जिनके द्वारा बाढ़ कतावरोधी कार्य,बांध मरम्मती के नाम पर प्रति वर्ष संवेदकों से काम को पेटी कांट्रेक्टर कर रहे हैं। जिनके द्वारा बाढ़ कटावरोधी कार्य व बांध मरम्मती के नाम पर प्रति वर्ष करोड़ो रूपये का वारा न्यारा किया जा रहा हैं। वहीं उसकी सजा स्थानीय लोग और नदी के किनारे बसे लोग भुगत रहे हैं। बाढ़ के समय विभागीय पदाधिकारी से लेकर स्थानीय पदाधिकारी तक परेशान रहते हैं।
इनसेट.

अनियमितता बरती गई तो होगी कार्रवाई : दीपक जल संसाधन विभाग मोतिहारी के कार्यपालक अभियंता दीपक कुमार ने बताया कि संवेदक को मानक के अनुरूप कार्य करने का निर्देश दिया गया हैं। अगर अनियमितता बरती गई है तो विभागीय कार्रवाई होगी।