चंपारण: धन के लोभ में पांच बेटियों और दामाद ने मारपीट कर घर से निकाला मां-बाप को, अब दर-दर भटक रहे वृद्ध दंपति

मोतिहारी/राजन दत्त द्विवेदी: एक अजीबोगरीब मामला प्रकाश में आया है। जहां आज के युग में धन के लोभ में बेटे व बहू से मां और बाप को प्रताड़ित करने के मामले सामने अक्सर सामने आतें हैं तो लोग कहते हैं कि बेटा और बहू से बेटी और दामाद भले होते हैं, जो शादी के बाद भी बेटी अपने पति के साथ दुख के समय मां- बाप का ख्याल रखती है। लेकिन, इससे ठीक उल्टा वाक्या मुफस्सिल थाना क्षेत्र स्थित टिकुलिया गांव में हुई है। जहां वृद्ध नागेन्द्र बैठा की छह पुत्रियों में से पांच बेटियों ने अपने पति और अज्ञात बदमाशों के सहारे धन के लोभ में अपने अपने वृद्ध माता-पिता को मारपीट कर उन्हें उनके घर से भगा दिया है।



यहां तक कि वृद्ध जख्मी दंपति जब सदर अस्पताल में इलाज के लिए पहुंचे तो वहां भी बेटियों ने बदमाशों की मदद से मारपीट की घटना को अंजाम दिया। जहां गार्ड और लोगों के बीच बचाव से वृद्ध दंपति अपने जख्मों का इलाज करा सके। इस संबंध में उक्त वृद्ध दंपति ने बताया कि मामले में 15 दिसंबर 20 को पीड़ित वृद्ध नागेन्द्र बैठा ने मुफस्सिल थाना में आवेदन संख्या 927 km/ 2020 देकर अपने पांच बेटियों, दामादों और चार- पांच अज्ञात लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई। बावजूद इसके मुफस्सिल थाना पुलिस ने अब तक कोई कार्रवाई नहीं की।

नागेन्द्र बैठा ने बताया कि अब सभी ने इस तरह से मारपीट कर आतंकित कर दिया है कि हम पति-पत्नी सगे संबंधियों के अलावा दर दर भूखे भटक रहे हैं। बताया कि इस संबंध में एसपी के दरबार में सुरक्षा और न्याय दिलाने के लिए गुहार लगा चुके हैं। फिर भी मुफस्सिल थाना पुलिस मेरे अताताई बेटियों और दामाद से रुपए और मेलजोल कर कार्रवाई नहीं कर रही है। एैसी स्थिति में हम वृद्ध दंपति से आसियाना भी छीन गया है और हम खुले आसमान के नीचे भटक रहे हैं।