चंपारण : आरपीएफ की अनोखी कार्रवाई, नवंबर में हुई घटना का रिपोर्ट बना दिया अक्टूबर में

बेतिया/अवधेश कुमार शर्मा: सत्यदेव जनसेवा ट्रस्ट इकाई वाल्मीकिनगर लोकसभा क्षेत्र जन शिकायत कार्यालय अध्यक्ष अंकित कुमार तिवारी ने रेल मंत्रालय को पत्र देकर आगाह किया है कि आरपीएफ नरकटियागंज ने शक्ति का दुरुपयोग कर पदाधिकारियों को गलत रिपोर्ट भेजा है। रेल मंत्री को प्रेषित पत्र में बताया गया है कि आरपीएफ के भ्रामक रिपोर्ट को सही मानकर बड़े पदाधिकारियों ने निजी स्तर से जाँच नही किया। अगर जाँच किया गया तो पता चलता नवम्बर में नरकटियागंज के कुछ रेलवे पुलिस बल पर उनके गलत रवैये के चलते रेल मंत्रालय में ऐसे पदाधिकारियों पर जाँच में दोषी पाए जाने पर कार्रवाई होनी चाहिए। इसके लिए अंकित ने निवेदन किया है।



आरपीएफ ने घटना के एक माह पूर्व की जाँच रिपोर्ट में उन्हें(अंकित) दोषी ठहराया है। मामला तूल उस वक्त तूल पकड़ा जब उनलोगों की झूठ की पोल खुली। झूठ को सच बनाने के चक्कर मे रेलवे पुलिस बल ने नवम्बर में भेजे गए। रेल मंत्रालय में पत्र की जाँच अक्टूबर में सम्पन्न करके रेल मंत्रालय को रिपोर्ट भेज दिया। इसकी सूचना तत्कालीन रेल आईजी को वाट्सएप के माध्यम से दिया, उन्होंने आश्वासन भी दिया, लेकिन अभीतक जाँच नही हुई। वाट्सअप का स्क्रीन शार्ट भी उन्हें भेजा गया है। पुनः श्री तिवारी ने न्याय के लिए रेल मंत्रालय को पत्र के माध्यम से आवेदन देकर गुहार लगाया है।