बदायूं रेप कांड के खिलाफ महिलाओं ने CM योगी का फूंका पुतला

समस्तीपुर: उत्तर प्रदेश के बदायूं  मंदिर में पूजा करने गई महिला से पुजारी सत्यनारायण दास  समेत दो अन्य लोगों द्वारा  हत्या कर देने की घटना के खिलाफ महिला संगठन ऐपवा एवं आइसा के बैनर तले आज शनिवार को एक प्रतिरोध मार्च निकालकर  यूपी के मुख्यमंत्री का पुतला फूंका गया। शहर के ताजपुर रोड स्थित मछली बाजार से शुरू हुए यह प्रतिरोध मार्च शहर के सभी मुख्य चौक चौराहों से गुजरते हुए आभरब्रीज चौराहा के पास पहुंचा।



यहां थोड़ी देर के लिए एक नुक्कड़ सभा का आयोजन कर कई गंभीर आरोप यूपी सरकार पर लगाए गए।  सभा की अध्यक्षता करते हुए ऐपवा जिलाध्यक्ष बंदना सिंह ने कहा कि योगी सरकार आरोपियों को बचाना चाह रही है। एफआईआर लेने में कोताही बरतने वाले पुलिस पर मुकदमा चलाये जाने के बजाय सस्पेंड कर रही है। भाजपा विधायक सेंगर की तरह बदायूं गैंगरेप के आरोपियों को भी सरकार बचाने की कोशिश में लगी है।

इसके साथ ही अन्य वक्ताओं ने कहा है कि योगी- मोदी सरकार फास्ट ट्रैक कोर्ट का गठन कर आरोपियों को जल्द को सजा दिलाने का काम करे एवं इस घटना में कोताही बरतने वाले पुलिस पर 302 का मुकदमा दर्ज करे। मौके पर जगतारण देवी,  कामिनी देवी, सुनील कुमार, गंगा प्रसाद पासवान, ललित सहनी, मो० फरमान, दीपक यादव, राजू कुमार झा, फूलबाबू सिंह, अमित कुमार, महावीर पोद्दार, उपेंद्र राय, सुरेंद्र प्रसाद सिंह, मिथिलेश कुमार, प्रेमानंद सिंह, दिनेश सिंह, मो० नईम, मो० अन्नु समेत अन्य छात्र- महिला नेता भी उपस्थित थे।