BJP के प्रतिनिधि मंडल ने की मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी से मुलाकात, सुझाव के साथ रखी कई मांग

0
68

पटना (नियाज आलम) आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर भाजपा बिहार इकाई ने आज बिहार के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी को एक पत्र सौंपकर सुझाव देने के साथ-साथ कुछ मांगे की है।

बिहार भाजपा के प्रदेश महामंत्री राधा मोहन शर्मा के नेतृत्व में प्रदेश भाजपा के प्रतिनिधि मंडल ने मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी से मुलाकात कर उन्हें पत्र सौंपा।

पत्र में कहा गया है कि…

  • विगत लोकसभा एवं विधानसभा चुनाव के दौरान यह पाया गया है कि चुनाव आयोग द्वारा जारी मतदाता पर्ची कोई पीठासीन पदाधिकारी द्वारा पहचान पत्र के रूप में मान्यता दे कर मतदाताओं को मतदान करने का अधिकार दे दिया जाता है जिससे फर्जी मतदान की संभावना बढ़ जाती है। भाजपा चुनाव आयोग से मांग करती है कि मतदाता पर्ची का उपयोग केवल मतदान केंद्र की जानकारी तक ही रखा जाए इसे पहचान पत्र के रूप में मान्यता नहीं दी जाए। साथ ही साथ भाजपा यह भी मांग करती है कि वोटर पर्ची के साथ-साथ आयोग द्वारा मान्यता प्राप्त पहचान पत्र आवश्यक किया जाए और ऐसे ना करने वाले पीठासीन पदाधिकारी पर कार्यवाई सुनिश्चित की जाए। भाजपा चुनाव आयोग से मांग करती है कि शत प्रतिशत मतदाताओं को फोटो पहचान पत्र जारी किया जाए। विगत चुनाव में यह भी पाया गया कि निर्वाचन आयोग द्वारा जारी मतदाता पर्ची को कई दबंग व्यक्ति वीरों के माध्यम से प्राप्त कर पीठासीन पदाधिकारी के सहयोग से बोगस मतदान कर आते हैं जो स्वस्थ लोकतंत्र के लिए उचित नहीं।
  • आगामी लोकसभा चुनाव के दौरान वीवीपैट का प्रयोग किया जाना है, जिससे मतदान करने में समय लगता है। इसलिए समय को देखते हुए चुनाव के दौरान मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग सही ढंग से कर सकें इसके लिए मतदान का समय एक घंटा बढ़ाया जाए।
  • बिहार एक उग्रवाद प्रभावित राज्य है, यहां कई जगह मतदान का समय कम रहता है ताकि पोलिंग पार्टी समय से मतगणना स्थल पहुंच सकें। इसे ध्यान में रखते हुए सहायक मतदान केंद्रों की संख्या इन क्षेत्रों में बढ़ाई जाए ताकि मतदाता समय रहते अपने मतदान का प्रयोग कर सकें।
  • बिहार में बहुत से इलाके दियारा एवं टाल से प्रभावित हैं। इन जगहों पर घुड़सवार सुरक्षाकर्मी की व्यवस्था की जाए ताकि मतदाता निर्भीक होकर अपने मतदान का उपयोग कर सकें।
  • विगत लोकसभा एवं विधानसभा चुनाव के दौरान यह शिकायत मिली कि नदी मार्ग से काफी मात्रा में पैसा एवं अन्य आपत्तिजनक सामग्री मतदाताओं को गलत तरीके से प्रभावित करने की नियत से मतदाताओं के बीच पहुंचाया जाता है। चुनाव के दौरान नदी वाले इलाकों में नामों की सघन जांच की जाए एवं 2 दिन पहले से नाव के परिचालन पर प्रतिबंध लगाया जाए।
  • चुनाव के 1 दिन पूर्व लोकसभा क्षेत्र में पैरामिलिट्री फोर्स का फ्लैग मार्च कराया जाए ताकि मतदाता निर्भीक होकर अपने मतदान का प्रयोग कर सकें।
  • चुनाव के दिन जिला एवं लोकसभा क्षेत्र का बॉर्डर सील किया जाए।

प्रतिनिधिमंडल ने कहा कि भाजपा चुनाव आयोग से यह मांग करती है कि आप इन बिंदुओं पर गंभीरता से विचार करें ताकि आने वाले लोकसभा चुनाव के दौरान मतदाता निर्भीक होकर अपने घर से निकले और अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकें।

भाजपा प्रतिनिधिमंडल में प्रदेश भाजपा चुनाव आयोग के संयोजक प्रशांत कुमार वर्मा, सह संयोजक राधिका रमन, अरविंद कुमार, कुमार सचिन, विन्ध्याचल राय, प्रदेश भाजपा मीडिया प्रभारी राकेश कुमार सिंह, पंकज कुमार और राजीव रंजन शामिल रहे।