किसानों का धरना 27वें दिन भी जारी, नया कृषि कानून कम्पनियों का रक्षा कवच है

मुजफ्फरपुर (बिफोरप्रिंट) : अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति के आह्वान पर खुदीराम बोस स्मारक स्थल कंपनीबाग में चल रहे अनिश्चितकालीन धरना 27 वें दिन जारी रहा। कार्यक्रम की अध्यक्षता ऑल इंडिया किसान खेत मजदूर संगठन के बिहार राज्य उपाध्यक्ष योगेंद्र राम ने किया।



धरना की अध्यक्षता करते हुए उन्होंने कहा कि जनविरोधी नये कृषि कानूनों में निजी कंपनियों को तमाम कृषि उपज पूरे देश में कहीं भी बेरोकटोक खरीदने – बेचने की खुली छूट दे दी गई है। वे अपनी मनमर्जी के भाव तय करेंगी। पूरा थोक व खुदरा बाजार इनकी मुट्ठी में होगा।

इसमें किसानों को आढतियों से आजादी दिलाने की बातें बहुत बड़ा छल है, क्योंकि ये आढातियों के मुकाबले हजारों हजार गुना बड़ी व ताकतवर व्यापारी हैं। इनका विदेशी कंपनियों से भी गठजोड़ है। जाहिर है इन कानूनों से आजादी या रक्षा कवच किसानों को नहीं बल्कि प्राइवेट कंपनियों को ही मिलेगा। बिजली भी पुरी तरह निजी कंपनियों के हाथ में दी जा रही है।

कार्यक्रम को एआईकेकेएमएस के श्यामचन्द्र यादव, तारकेश्वर गिरी, विपिन ठाकुर, नरेश राम, लालबाबू राय, राजकुमार राम, कौशल भक्त, यादव लाल पटेल,सुनील कुमार, अविनाश कुमार, रमेश चंद्र सिंह, काशीलाल शर्मा, सुबोध कुमार, नवल किशोर राय, मदन राम, बिहार राज्य किसान सभा के मदन प्रसाद एवं राष्ट्रीय किसान संघर्ष मोर्चा के उमाशंकर सहनी आदि ने संबोधित किया