गया: मगध विश्वविद्यालय के छात्रों ने जलाया पाकिस्तान का झंडा

0
124

गया(पुरुषोत्तम कुमार): आज मगध विश्वविद्यालय के प्रांगण में सैकड़ों छात्रों ने पाकिस्तान के झंडा एवं पुतला जलाया और जमकर पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाए, छात्रों ने कहा की CRPF पर पुलवामा में हुए आतंकवादी हमला जिसमें जिन आतंकियों का हाथ हैं,वो आतंकवादी पाकिस्तान का प्रश्रय पाकर आज पाकिस्तान में बैठे हैं।ये वीर जवानों पर कायराना हमला आतंकियों व पाकिस्तान के खिलाफ हम युवाओं के रक्त में उबाल पैदा करता हैं, हृदय में प्रतिशोध की ज्वाला धधक रही हैं, इतना गुस्सा हैं की लग रहा हैं हाथों में बंदूक उठाए और पाकिस्तान की सरजमी को कई टुकड़ों में विभक्त कर दें।

सरकार से हम युवा समाज मांग करते हैं की बातचीत का सिलसिला समाप्त हो और रक्तपात का बदला दुश्मन के सीने को छलनी करके लिया जाए।हमे खून के बदले खून चाहिए।राजनैतिक परिचर्चाओं की जरूरत नहीं हैं। और बदला लेने के लिए अगर हम सब नौजवान की जरूरत पड़ी तो सीमा पर जाकर शत्रु से लड़ने के लिए हमेशा तैयार हैं और भारत के वीर जवानों से कंधे-से-कंधा मिलाकर शत्रु के लहु को रसपान करने की भूख हैं।ये पाकिस्तान का झंडा और पुतला जलाने और पाकिस्तान के खिलाफ प्रतिशोध की भावना के साथ-साथ पाकिस्तान जैसे कायर शत्रुओं के प्रति का प्रतिकार और प्रतिघात करने की आग हैं।तथा माँ भारती के आंचल की रक्षा करने के लिए अपने जीवन का सर्वस्व न्योछावर कर देने की भावना और कृतज्ञता है हम युवाओं का।

इस मौके पर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् के अध्यक्ष सुबोध पाठक ने कहा कि सेना को पूरी  छूट मिलने चाहिए और पाकिस्तान पर हमला करके वीर शहीदों का बदला लेना चाहिए।हमे गर्व है अपने वीर जवानों पर,वही बिहार प्रदेश कार्यसमिति सदस्य सूरज सिंह ने कहा कि अब बदला लेने का वक्त है पाक शुरू से दोगली नीति दिखा रहा है पर यहां कि राजनीति पार्टीयां बस वार्ता के नारे देती है जिसका परिणाम कल साफ दिखा अब समय है घर में घुस कर मारने की,एक सर्जिकल स्टाइक से काम नही अब रोजाना स्टाइक करने की आवश्यकता है,इस मौके पर छात्राओं ने कहा कि हम सभी देश की बेटीयाँ माँ भारती के लिए जान देने को तैयार है हम सभी भी पाक के आतंकवादीयों को मारने के लिए तैयार है,सरकार को पाक से सारे रिश्ते खत्म करने की आवश्यकता है।

सेना को पाक से लड़ने के लिए खुली आजादी देनी चाहिए,पत्थरबाजो को खोज खोज कर कत्लेआम कर दिया जाये,इस आक्रोश मार्च कर नेतृत्व कर रहे अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् के सदस्यों ने भी सरकार सेनाओं को न्याय दिलाने की मांग की,पुतला दहन के बाद शोकसभा और  मौन धारण किया गया।इस मौके पर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् के अध्यक्ष सुबोध कुमार पाठक,बिहार प्रदेश कार्यसमिति सदस्य सूरज सिंह,मंत्री राहुल कुमार,संगठन मंत्री निराला जी,विदुषी कुमारी,श्रृति त्रिपाठी,रूपा श्री,कृति कुमारी,संगम कुमार,रितेश कुमार,निखिल कुमार,प्रविण कुमार,पवन,विश्वेस,शशांक,सानु कुमार,छोटी कुमार,नन्दु कुमार,मनिकाणत,विक्की,अभिषेक आदि छात्र मौजूद थे।

बोधगया के गांधी चौक से निकाला गया कैंडल मार्च :

पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आत्मघाती हमले में देश ने अपने 42 शपूतो को खो दिया,जिसका गुस्सा देश के हर भाग में देखने को मिल रहा है, इस हमले में शहीद हुए जवानों का बदला लेने के लिए पूरा देश एक शुर में सरकार से मांग कर रही है।आज शाम बोधगया के गांधी चौक से बोधगयावासी पाकिस्तान मुर्दा बाद के नारे लगाते हुए निकाला कैंडल मार्च।यह कैंडल मार्च बोधगया के विभिन्न इलाकों से हो कर पुनः गांधी चौक पर समाप्त होगी।इस शोक के घड़ी में बोध गया के लोग अपने-अपने घरों से अपने हाथों में कैंडल लिए इस मार्च में शामिल हुए।और साथ-ही-साथ सभी शहीद जवानों की आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना भी किया तथा साथ ही लोगो ने कहा कि इस दुःख की घड़ी में उनकी संवेदना उन शहीदों के परिवार वालो के साथ है, और वो किसी भी परिस्थिति में अपने सेना और देश के साथ है, और साथ ही उन्होंने सरकार से ये मांग की मौत का मातम सरहद के उस पार होना चाहिए,बहुत देख चुके अपने जवानों का सर,अब दुश्मन के सर का भी दीदार होना चाहिए।