39.1 C
Delhi
Homeबिहारपटनाअब मोबाईल ऐप से होगी उद्यान के योजनाओं की मॉनिटरिंग, जांच पदाधिकारी...

अब मोबाईल ऐप से होगी उद्यान के योजनाओं की मॉनिटरिंग, जांच पदाधिकारी को भेजनी होगी सेल्फी

- Advertisement -spot_img

पटना (नियाज आलम) स्मार्ट फोन के इस दौर में अब सूबे के सरकारी विभाग भी तेजी से तकनीकी तौर पर मजबूत हो रहे हैं। विभागीय कार्यों पर नजर रखने के लिए अब मोबाइल ऐप का भी इस्तेमाल किया जा रहा है।

इसी क्रम में उद्यान के योजनाओं की मॉनिटरिंग के लिए कृषि मंत्री डॉ. प्रेम कुमार ने आज पन्त भवन स्थित बागवानी निदेशालय से ई-हॉर्ट इन्सपेक्शन नाम से मोबाईल ऐप लॉन्च किया।

इस मौके पर कृषि मंत्री ने बताया कि ई-हॉर्ट इन्सपेक्शन एक एण्ड्रॉयड मोबाईल ऐप है, जिसके माध्यम से राज्य बागवानी मिशन द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं की मॉनिटरिंग किया जायेगा। इसके साथ-साथ इससे योजनाओं का ग्राउण्ड लेवल पर अद्यतन स्थिति की जानकारी भी प्राप्त की जा सकेगी।

उन्होंने कहा कि इस ऐप के माध्यम से तीन स्तरों राज्य स्तर, प्रमण्डल स्तर तथा जिला स्तर पर जाँच की व्यवस्था हो पायेगी। ऐप उद्यान निदेशालय द्वारा संचालित योजनाओं के मॉनिटरिंग के लिए बनाई गई है। इससे फसलवार एवं जिलावार निरीक्षण करने की व्यवस्था करने में सुविधा होगी।

इस ऐप में रीयल टाईम जियो-टैग्ड फोटोग्राफ लेने की व्यवस्था है। पहला फोटो उत्तर-पूर्व दिशा से, अन्य दो विभिन्न कोने और चौथा जांच पदाधिकारी का सेल्फी मोड में लिया जाएगा। इससे कार्य पूर्ण होने का प्रतिशत तथा कार्य की गुणवत्ता की मॉनिटरिंग हो पाएगी।

उन्होंने कहा कि सेल्फी के कारण कोई भी जांच पदाधिकारी घर बेठे या किसी दूसरे से मोबाइल भेज कर पोटो नहीं ले पाएगा। साथ ही फसल अवयव का लाभ पाने वाले किसान के विवरणी का संकलन भी हो सकेगा।

कृषि मंत्री ने कहा कि इस ऐप से कई फायदे होंगे। इससे योजनाओं के कार्यान्वयन में पारदर्शिता आएगी। कार्य की वर्तमान स्थिति का विवरण प्राप्त किया जा सकेगा। जांचोपरान्त आंकड़ों का मुख्यालय में संकलन होगा। कार्य के वास्तविक स्थान की जानकारी प्राप्त की जा सकेगी।

जांच के तीनों स्तरों में से किसी भी स्तर की जांच का प्रतिवेदन तुरंत उपलब्ध कराने की व्यवस्था होगी। पूर्ण जांच प्रक्रिया में लगने वाले समय की बचत होगी। कोई भी व्यक्ति, विभागीय वेबसाईट से योजना की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि जांचोपरान्त ली गई प्रथम जियो-टैग्ड फोटोग्राफ विवरण सहित उद्यान निदेशालय के विभागीय बेवसाईट पर सभी लोगों के लिए उपलब्ध रहेगा।

इस अवसर पर निदेशक (उद्यान) नन्द किशोर, संयुक्त निदेशक (उद्यान) सुनील कुमार पंकज सहित विभागीय पदाधिकारी एवं कर्मचारीगण उपस्थित रहे।

- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -