राजद में परिवार से बाहर के व्यक्ति का न कोई सम्मान, न भविष्य- सुशील मोदी

स्टेट डेस्क/लखनऊ: बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री और राज्यसभा सदस्य सुशील मोदी ने ट्वीट कर कहा है कि लालू -राबड़ी की पार्टी में परिवार के बाहर के किसी नेता का न कोई सम्मान है, न कोई भविष्य। उनके लिए राजनीति गरीबों-पिछडों की सेवा का माध्यम नहीं, बल्कि केवल सम्पत्ति बनाने का जरिया है। समाजवाद की खोल में परिवारवाद और धर्मनिरपेक्षता की रेशमी चादर में लपेट कर वोटबैंक को सहेजने वाले राजद ने पार्टी के वरिष्ठ नेता स्वर्गीय रघुवंश प्रसाद सिंह को “,एक लोटा पानी” कहा था।



आज वे उसी समाज के दूसरे बुजुर्ग नेता का अपमान कर रहे हैं। किसी दल के प्रदेश अध्यक्ष का उनके दल के भीतर अपमान होना हालांकि उस संगठन का आंतरिक मामला है, लेकिन इससे पार्टी की सोच को लेकर जो संदेश जाता है, वह सार्वजनिक ही होता है। जो दल ऊंची जाति के सीनियर नेताओं की समाजवादी निष्ठा और ईमानदारी के बावजूद उनके प्रति अपमान से भरा है, उसी दल ने सामान्य वर्ग के गरीबों को 10 फीसद आरक्षण देने के प्रधानमंत्री मोदी के फैसले का विरोध किया था। जनता सब देख रही है।