बूथ लूटकर संसद में पहुंचे थे कीर्ति आज़ाद, खुद किया स्वीकार

0
109

सेंट्रल डेस्क : भाजपा में हाशिए पर रहे सांसद कीर्ति आजाद कांग्रेस में शामिल होने के बाद अपने संसदीय क्षेत्र बिहार के दरभंगा पहुंचे, तो कांग्रेसी कार्यकर्ताओं व समर्थकों ने उनका खूब स्वागत किया। इसी उत्साह में वह ऐसी बात बोल गये कि खुद के लिए मुश्किल पैदा कर लिए. कीर्ति आज़ाद ने अपने समर्थकों में जोश भरते हुए कहा कि आप लोग मेरे लिए बूथ लूटा करते थे और मेरे पिताजी के लिए भी किया था।

उनके इस बयान की अब चौतरफा आलोचना हो रही है. बिहार बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय ने कीर्ति आजाद पर निशाना साधा है. नित्यानंद राय ने कहा कि कांग्रेस की संस्कृति रही है, बूथ लूटने की. बूथ लूटनेवाला कभी विकास की बात नहीं कर सकता. इस बार कीर्ति आजाद की जमानत जब्त होगी.

उन्होंने कहा कि कीर्ति आजाद जब भी बीजेपी में रहे बूथ लूटकर बीजेपी के कार्यकर्ताओं ने उन्हें नहीं जिताया है. वहां के कार्यकर्ता और लोगों ने भारतीय जनता पार्टी की नीति और कर्मठता को देखकर उन्हें जिताया था. वे कांग्रेस में गए हैं, जहां लोकतंत्र की हत्या की जाती है.

बता दें कि दरभंगा में अपनी पहली सभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि वह खांटी कांग्रेसी रहे हैं। न तो उन्हें कांग्रेस पार्टी में शामिल होने में कोई परेशानी हुई और न ही कांग्रेस को उन्हें अपनाने में, क्योंकि वे मूल रूप से कांग्रेस परिवार से ही हैं। लोगों में जोश भरते हुए कहा कि आप लोग मेरे पिताजी के लिए भी बूथ कब्जा करने का काम करते थे और साल 1999 में मेरे लिए भी किया था। तब बैलेट से चुनाव होते थे।