मधुबनी: बहू के सुसाइड मामले में सास-ससुर दोषी, कोर्ट ने सुनाई तीन साल की सजा

0
158

मधुबनी/प्रतिनिधि: सिविल कोर्ट के एडीजे आर के पांडेय ने पारिवारिक कलह से तंग आकर एक नवविवाहिता द्वारा सुसाइड करने के एक मामले में दोषी पाते हुए उजियारपुर थाने के चांद चौर मिश्र टोल के  ससुर अभिराम झा  एंव सास रीता देवी को दोषी पाते हुए तीन साल की सजा सुनाया । विशेष लोक अभियोजक  शिव कुमार प्रसाद ने बताया कि मृतिका के पिता शम्भू झा ने वर्ष 2002 ई में उजियारपुर थाना कांड सं 29/02 दर्ज  कराया था । कोर्ट ने सुनवाई के दौरान धारा 306  भादसं में 3 वर्ष कारावास की सजा साथ 10 हजार रुपये जुर्माना दिया । वहीं धारा 201 भादसं में 2 वर्ष साथ 5 हजार रुपये जुर्माना दी । जुर्माने की राशि अदा नही करने पर  अतिरिक्त सजा भुगतने का आदेश दिया ।वही दूसरे मामले में एसडीजेएम विवेक विशाल ने घर मे घुस कर चोरी करने के आरोप में उजियारपुर थाने के सुरौली गांव के अटेरन दास को धारा 380,457 भादसं में 6 माह  साधारण कारावास की सजा भुगतने का  आदेश दिया ।साथ दोनों धाराओं में 5 पांच पांच सौ रुपये अदा करने का आदेश दिया । साथ ही करा में बिताई गई अवधि को सजा में समायोजित करने का आदेश दिया ।

गायत्री महायज्ञ को ले निकाली गयी कलश यात्रा

सरायरंजन: प्रखंड के बथुआ बुजुर्ग स्थित गायत्री शक्तिपीठ में तीन दिवसीय गायत्री महायज्ञ को ले 301 कुंवारी कन्याओं ने कलश शोभायात्रा निकाली। यह कलश यात्रा डिहवारनी से शुरू होकर गांव के विभिन्न मार्गो से गुजरते हुए पुनः महायज्ञ स्थल पर पहुंची। इसके पश्चात वैदिक विधि-विधान के साथ कलश स्थापना की गई। कलश स्थापना के साथ ही वैदिक मंत्रोच्चार, भजन, संकीर्तन एवं प्रवचन से बथुआ बुजुर्ग सहित आसपास का क्षेत्र भक्तिमय हो गया है। महायज्ञ परिसर में श्रद्धालुओं की भारी भीड़ जुट गई है। शक्ति पीठ के व्यवस्थापक प्रमोद प्रसाद सिंह ने बताया कि इस महायज्ञ में नि:शुल्क हिंदू धर्म के सभी संस्कार संपन्न कराए जाएंगे। वहीं महायज्ञ के समापन की रात्रि में आदर्श ग्राम पर  ग्रामीण कलाकारों द्वारा नाटक का मंचन किया जाएगा।  महायज्ञ को सफल बनाने में पूर्व मुखिया विश्वनाथ प्रसाद सिंह, वर्तमान मुखिया अमरेंद्र कुमार धीरज, राम किशोर गिरि, निरंजन प्रसाद, प्रो. अमरेंद्र कुमार, रामेश्वर शर्मा, नागेश्वर शर्मा, शंभू झा, रामानुज प्रसाद सिंह, अजय प्रसाद सिंह, संजय कुमार सिन्हा आदि सक्रिय सहयोग दे रहे हैं।

पुलवामा में सुरक्षाकर्मियो पर हुए आतंकी हमले के विरोध में सिंघिया बाजार रहा बंद, सड़को पर उतरे लोग कियासड़क जाम


समस्तीपुर(प्रशांत कुमार): श्रीनगर काश्मीर के पुलवामा में हुए आंतकी हमलों के दौरान शहीद हुए वीर सपूतों की याद में आज शनिवार को सिंघिया बाजार समेत ग्रामीण क्षेत्रों के भी हाट बाजार आज पूरी तरह से बंद रहा. सभी इस घटना की पुरजोर निंदा करते हुए पाकिस्तान को अब सबक सिखाने की मांग लगातार कर रहे है. इसी मुद्दे को लेकर व्यसायियो समेत आमलोगो ने भी बंद का आह्वान किया था. बंद समर्थको ने आज सिंघिया रोसड़ा मुख्य मार्ग को करीब घंटों तक जाम रखा. जिसके कारण रोसड़ा जाने एवं आने वाले लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पङा. इस अवसर पर समर्थको द्वारा अश्रुपूर्ण नेत्रो से शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए पाकिस्तान विरोधी नारे भी लगाये गए. लोगो ने कहा कि अब बहुत हो गयी पाकिस्तान को सबक सिखाने की बारी आ गयी है.

इस अवसर पर सिंघिया के युवा क्रांतिकारी बिट्टु सिंह, राजन सिंह, रिषु सिंह, अभिषेक सिंह, आलोक सिंह, निरंजन कुमार, रवि सिंह, अंकित सिंह, आशीष झा, दीपक सिंह, अमन कुमार, अमित बैठा, मनीष कुमार निराला समेत सैकड़ो युवा मौजूद थे. इधर, प्रखंड के दुर्गा चौक से सुभाष चौक तक कल देर शाम को नगर पंचायत संघर्ष समिति के द्वारा पुलवामा में शहीद हुए वीर जवानों की आत्मा के शान्ति के लिए कैंडल मार्च जुलूस निकाला गया. इस जुलूस में प्रखंड के बच्चे से लेकर बूढ़े तक शामिल दिखे. सभी व्यक्ति आगे बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया. सभी युवाओं में उमङ़ती जुनून के साथ पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे भी लगाते देखे गए. इस कैंडल मार्च जुलूस में बिट्टु सिंह, राजन सिंह, रिषु सिंह, अभिषेक सिंह, आलोक सिंह, निरंजन कुमार, रवि सिंह, अंकित सिंह, आशीष झा, दीपक सिंह, अमन कुमार, अमित बैठा, समेत सैकड़ो युवा मौजूद थे.