पटना: तीन देशों की यात्रा पर निकली मोटरकार रैली का गांधी मैदान से हुआ फ्लैग ऑफ

0
92

पटना डेस्क: महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती वर्ष के मौके पर तीन देशों की यात्रा पर निकली मोटरकार रैली का गांधी मैदान, गांधी मूर्ति से शुक्रवार को फ्लैग ऑफ किया गया। मोटरकार रैली का फ्लैग ऑफ परिवहन विभाग मंत्री संतोष कुमार निराला, परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल और राज्य परिवहन आयुक्त सीमा त्रिपाठी ने किया। मोटरकार रैली को फ्लैग ऑफ करने से पहले पुलवामा आंतकी हमले में शहीद हुए जवानों के लिए दो मिनट का मौन धारण कर श्रद्धांजलि दी गई। मोटरकार रैली का फ्लैग ऑफ करने से पहले तिरंगे के रंगों में बलून उड़ाया गया और गांधी जी की मूर्ति पर पुष्पांजलि अर्पित की गई।

परिवहन विभाग मंत्री संतोष कुमार निराला ने कहा कि गांधी जी के 150 वीं जयंती के उपलक्ष्य में तीन देशों की यात्रा पर निकली मोटरकार रैली एक सराहनीय कदम है। इसे 30 वां राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा से भी जोड़ा गया है। रैली के माध्यम से गांधी जी के संदेशों को जन-जन तक पहुंचाया जा रहा है साथ ही सड़क सुरक्षा जागरुकता काम किया जा रहा है। परिवहन विभाग सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने कहा कि सड़क दुर्घटना में कमी आये और मौतों में कमी आये इसके लिए जागरुकत अभियान चलाये जा रहे। जागरूकता के लिए सरकार लगातार काम कर रही है। मोटरकार रैली के माध्यम से संदेश देना चाहते हैं कि जीवन अनमोल है इसका सदुपयोग करें और सड़क दुर्घटना से बचें। आने वाले समय में इस तरह के कार्यक्रम जारी रहेंगे। सालों भर सड़क सुरक्षा संबंधित जागरुकता कार्यक्रम चलाये जायेंगे। हर शनिवार को सड़क सुरक्षा जागरुकता के लिए कार्यक्रम चलाये जायेंगे।

राज्य परिवहन आयुक्त सीमा त्रिपाठी ने कहा कि सड़क सुरक्षा के प्रति लोगों को जागरुक करने के लिए लगातार प्रयास किये जा रहे हैं। सड़क सुरक्षा एक महत्वपूर्ण विषय है। मोटरकार रैली या अन्य जागरुकता कार्यक्रम के जरिए लोगों के मानस में सड़क सुरक्षा के प्रति एक छाप छोड़ने की कोशिश की जा रही है। मोटरकार रैली का नेतृत्व कर रहे अरुण भाटिया ने कहा कि बिहार में जिस तरह से रैली का जगह-जगह स्वागत किया गया है वह अदभूत है। इसकी जितनी भी प्रशंसा की जाए कम है। गुजरात से जब निकले थे तो वहां के आवोभगत देखकर हमलोगों ने कहा था कि गुजरात से अच्छा कहीं नहीं हो सकता। जब यूपी गए तो लगा यूपी से अच्छा स्वागत नहीं हो सका। लेकिन बिहार में जिस तरह से पदाधिकारियों और लोगों ने स्वागत कर पलकों पर बैठाया वह बिहार में छह घंटे में जो रास्ता तय करना था वह हमलोगों ने 11 घंटे में किया। रास्ते में हर जगह सब लोग घंटे भर खड़ा रहकर इंतहार कर रहे थे। जगह-जगह स्वागत कर अतिथि देवो भव: क्या होता है वह हमलोगों को बिहार ने सिखा दिया।

इसके लिए परिवहन विभाग, बिहार सरकार और सभी पदाधिकारियों का आभार। मोटरकार रैली में आए कर्नल अतुल प्रताप सिंह ने कहा कि इस रैली के माध्यम से गांधी जी के सिद्धांतों के बारे में प्रचार करते जा रहे हैं। बिहार एक बहुत अच्छा प्रदेश है। देश की तरक्की में बड़ा योगदान दिया है। यहां की मेहमाननवाजी से सब लोग मंत्रमुग्ध हो गए हैं। मोटरकार रैली महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती वर्ष के मौके पर 4 फरवरी 2019 को नई दिल्ली के राजघाट से निकली है। यह रैली गांधी जी से जुड़े ऐतिहासिक स्थलों से होकर गुजरेगी जो भारत के साथ बांग्लादेश और म्यांमार तक जायेगी। रैली का समापन 24 फरवरी को म्यांमार के यंगून में होगा। इस रैली में स्वतंत्रता सेनानी, स्वतंत्रता सेनानी के परिजन, डॉक्टर, उत्साही युवा सहित कुल 27 लोगों की टीम है। 11 वाहन से यात्रा कर रहे हैं।