31.1 C
Delhi
Homeबिहारमुजफ्फरपुरएसकेएमसीएच के मरीज भगवान भरोसे, उपाधीक्षक को निरीक्षण में गायब मिले 80...

एसकेएमसीएच के मरीज भगवान भरोसे, उपाधीक्षक को निरीक्षण में गायब मिले 80 फीसदी कर्मचारी

- Advertisement -spot_img

मुजफ्फरपुर / ब्रह्मानन्द ठाकुर। उपाधीक्षक के निरीक्षण में एसकेएमसीएच से आज 80 फ़ीसदी स्टॉफ गायब मिले। इस दौरान कई खामियां भी सामने आई। एसकेएमसीएच के उपाधीक्षक डॉ गोपाल शंकर साहनी के औचक निरीक्षण में आज 80 फ़ीसदी से अधिक स्टॉफ अपने कर्तव्य स्थल से अनुपस्थित पाए गए। इसके साथ ही अस्पताल की कई खामियां सामने दिखी।

डॉ साहनी आज सुबह लगभग 6:30 बजे एसकेएमसीएच के इमरजेंसी में पहुंचे जहां 10 नर्सिंग स्टाफ की जगह मात्र तीन कार्य पर मिले। वही मुख्य द्वार पर एक भी सुरक्षा गार्ड तैनात नहीं था। इसके बाद वे वार्ड की ओर निरीक्षण के लिए निकल पड़े। जिसमें आईसीयू कक्ष में कोई चिकित्सक एवं सुरक्षा गार्ड तक नहीं दिखे। एक नर्सिंग स्टाफ के बलबूते वार्ड में भर्ती मरीजों की सेवा की जा रही थी। इसके अलावे कई वार्ड में विभिन्न तरह की कमियों के साथ स्टाफ का अभाव दिखा। वार्ड में ब्लड एवं गंदगी भी बिखरा पाया गया। इसका फोटो भी अस्पताल उपाधीक्षक डॉ साहनी जगह जगह पर लिए। वार्ड के सेंट्रल टेबल खाली एवं कमरे में ताला लटकता दिखा। भर्ती मरीज एवं उनके परिजनों ने भी कई तरह की शिकायत इनके निरीक्षण के दौरान किया। मरीजों ने बताया कि स्लाइन लटका हुआ है इससे एयर पास करने लगा और यहां किसी नर्स को नहीं रहने के कारण स्वयं स्लाईन को बंद करना पडा ।

एक अन्य मरीज ने बताया कि रात 12:00 बजे तक किसी ने सूई नहीं दिया और बेड पर ही रख कर चली गई। उधर वार्ड चार मैं भर्ती एक मरीज की मौत हो गई और इसकी पुष्टि कराने के लिए डॉक्टर को बुलाने को कोई नहीं था।अकेले नर्स बीएचटी लेकर परेशान थी। कई परिजनों ने बताया कि अस्पताल की व्यवस्था तो मिलाजुला कर ठीक है, लेकिन यहां साफ-सफाई बेहतर नहीं है। सुरक्षा को तैनात गार्ड भी रात को नहीं रहते हैं। परेशानी बढ़ने पर खोजें कोई कर्मी नहीं मिलते हैं। वार्ड के शौचालय का बद से बदतर स्थिति है।

वार्ड की समुचित तरीके से साफ सफाई नहीं किया जाता है। यहां फेनाईल या ब्लीचिंग पाउडर का कभी भी छिड़काव नहीं होता है । यही नहीं पीने के पानी का भी घोर अभाव रहता है। उपाधीक्षक डॉ साहनी के 3 घंटे यानी 9:00 बजे तक के निरीक्षण के क्रम में सुबह पाली के भी गई स्टाफ नहीं पहुंचे थे। वही उनके निरीक्षण की सूचना पर कुछ आस पास के कर्मी दौड़ते आपसे पहुंचे और अपना-अपना अलग-अलग सफाई पेश किया। निरीक्षण के दौरान कंट्रोल रूम के ब्रदर हेल्थ मैनेजर सचिन कुमार चंचल एवं राजीव रंजन शामिल थे। उपाधीक्षक डॉक्टर सैनी ने बताया कि निरीक्षण में मिली खामियां को अस्पताल अधीक्षक के समक्ष रखा जाएगा इसके आगे नियम संगत कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़े…

- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -