डीडीसी ने आंगनबाड़ी केंद्रों के कुपोषित बच्चे का क्रॉस चेक करने और अभिभावकों की काउंसलिंग का दिया निर्देश

0
55

नवादा (रवीन्द्र नाथ भैया) डीएम उदिता सिंह के आदेश के आलोक में शनिवार को डीडीसी दीपक कुमार मिश्रा ने बाल विकास परियोजना के तहत कार्यान्वित की जा रही सभी योजनाओं की समीक्षा की। इस दौरान जिले के अकबरपुर प्रखंड के नेमदारगंज एवं बरेव के जर्जर आंगनबाड़ी केन्द्र भवन का रंग रोगन एवं मरम्मति करने का निर्देश दिया।
उन्होंने डीपीओ आईसीडीएस कुमारी रीता सिंहा को निर्देश दिया कि आंगनबाड़ी केन्द्रों में सभी नामांकित बच्चों का शत-प्रतिशत पोषण ट्रैकर बृद्धि रिपोर्ट दें। केन्द्रों में आने वाले सभी कुपोषित बच्चों का निगरानी करने के लिए कई महत्वपूर्ण निर्देश दिया।

डीपीओ द्वारा बताया गया कि सभी प्रखंडों में कुल 191581 बच्चे एक्टिव हैं। जिसमें कुल बच्चों के माप तौल की संख्या 149669 है, जो 78 प्रतिशत है। जिला प्रोग्राम पदाधिकारी आईसीडीएस द्वारा यह भी बताया गया कि मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना अन्तर्गत स्वीकृत आंगनबाड़ी केन्द्रों की संख्या 2663 के विरुद्ध लक्ष्य 3 आवेदन प्रति आंगनबाड़ी केन्द्र है। अर्थात 7989 में कुल पंजीकृत लाभुकों की संख्या 5112 एवं उपलब्धि 63.99 प्रतिशत है।

डीडीसी ने प्रखंडों में कार्यरत महिला सुपरवाईजर के माध्यम से भी अति कुपोषित बच्चों को क्राॅस जाॅच और सभी बच्चों की सूची सत्यापित करने का निर्देश दिया। अति कुपोषित बच्चों को इससे मुक्त करने के लिए उनके माता-पिता के साथ काउन्सिलिंग करने का निर्देश सभी सीडीपीओ को दिया।

कुपोषित बच्चों के माता-पिता को पोषण, आवश्यक टीके एवं सरकार के द्वारा दी जा रही बिटामीन के संबंध में जागरूक करने का निर्देश दिया। उप विकास आयुक्त ने निर्देश दिया गया कि बाल विकास परियोजना के अन्तर्गत किसी भी पद के लिए बहाली की प्रक्रिया स्वच्छ एवं निष्पक्ष पूर्वक करें। बैठक में कुमारी रीता सिंहा डीपीओ के साथ-साथ बाल विकास परियोजना पदाधिकारी आदि उपस्थित थे।