35.1 C
Delhi
Homeबिहारपटनाउपेन्द्र कुशवाहा को बड़ा झटका, पूरा RLSP माइनॉरिटी सेल जदयू में शामिल

उपेन्द्र कुशवाहा को बड़ा झटका, पूरा RLSP माइनॉरिटी सेल जदयू में शामिल

- Advertisement -spot_img

पटना (नियाज आलम): लोकसभा चुनाव 2019 के लिए सीट शेयरिंग को लेकर नाराजगी के बाद एनडीए से अलग हुए उपेन्द्र कुशवाहा लगातार अपनी ही पार्टी में ही अलग-थलग पड़ते जा रहे हैं। इसी क्रम में आज रालोसपा प्रमुख को बड़ा झटका लगा है। पार्टी के मॉइनॉरिटी सेल ने रालोसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष उपेन्द्र कुशवाहा की नीति में अविश्वास जताते हुए जदयू की रुख कर लिया है। रालोसपा के अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष चुन्ने खान के नेतृत्व में पूरे प्रकोष्ठ के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं ने जदयू की सदस्यता ग्रहण की।

आज जदयू के प्रदेश कार्यालय में आयोजित मिलन समारोह के दौरान जदयू के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रसांत किशोर ने सभी को पार्टी में शामिल किया। जदयू में शामिल होने के बाद बिफोर प्रिन्ट से बातचीत करते हुए चुन्ने खान ने बताया कि आज रालोसपा के अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के प्रदेश समेत सभी जिला पदाधिकारी जदयू में शामिल हो गए हैं। उन्होंने रालोसपा प्रमुख उपेन्द्र कुशवाहा पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि पिछले पांच वर्षों से होली हो, इफ्तार हो या पार्टी का सम्मेलन हो, प्रकोष्ठ ने हर समारोह में बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया लेकिन रोलोसपा प्रमुख ने कभी अल्पसंक्यकों को तरजीह नहीं दी।

उन्होंने कहा कि सोमवार को भी उन्होंने पार्टी का एक सम्मेलन आयोजित किया लेकिन वहां भी मंच पर अल्पसंख्यकों को आगे जगह नहीं दी गई। चुन्ने खान ने कहा कि ऐसे समय में जब हम पार्टी के लिए अपना समय और पैसा खर्च करें लेकिन वह हमें नजरअंदाज करें। खान ने कहा कि जब टिकट बंटवारे की बात भी सामने आई तो केवल अपने लोगों की बात करें। इसलिए हम लोगों ने उनका साथ छोड़ने का फैसला किया। जदयू में शामिल होने के सवाल पर चुन्ने खान ने कहा कि अल्पसंख्यकों को लेकर जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष व मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की नीयत हमेशा साफ रही है।

उन्होंने कहा कि कब्रिस्तान की घेराबंदी हो, धारा 370 की बात हो या तीन तलाक की बात हो। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार हमेशा मुसलमानों को साथ लेकर चले हैं। उन्होंने कहा कि आज मुख्यमंत्री नीतीश कुमार देश की जरूरत है। इसलिए हमने उनके नेतृत्व के साथ जाने का फैसला किया है। चुन्ने कान ने कहा कि नीतीश कुमार के नेतृत्व में हमारी कौम सामाजिक, आर्थिक और शैक्षणिक तौर पर तरक्की करेगी। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर के जदयू में शामिल होने के बाद से छात्रों और युवाओं में जबरदस्त जोश है।

प्रशांत किशोर के एक लाख युवाओं को जदयू में शामिल होने का लक्ष्य करोड़ों में बदल जाएगा और उनका टारगेट हर हाल में पूरा होगा। चुन्ने खान ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ पूरा बिहार खड़ा है। चुन्ने खान के साथ रालोसपा अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के प्रदेश महासचिव परवेज आलम, प्रदेश उपाध्यक्ष हलीम इदरीसी, प्रदेश उपाध्यक्ष प्रोफेसर नुरैन समेत ओबैदुर्रहमान, डॉ. नौशाद आलम, ईसा मोहम्मद समेत बड़ी संख्या में पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता शामिल रहे।
बता दें कि रालोसपा प्रमुख के महागठबंधन का दामन थामने के बाद सबसे पहले उनकी पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष भगवान सिंह कुशवाहा ने विरोधी सुर बुलंद करते हुए जदयू से नाता जोड़ लिया। इसके बाद पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं के दूसरे दलों में जाने का सिलसिला लगातार जारी है।

- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -