मैट्रिक परीक्षार्थी ध्यान दें… इस तारीख से शुरू होगी परीक्षा

0
125

पटना/शिवम कुमार: बिहार बोर्ड इंटरमीडिएट परीक्षा खत्म होते ही बोर्ड मैट्रिक परीक्षा को लेकर तैयारीयों में जुट गयी है। 21 फरवरी से शुरु होगी और परीक्षा 28 फरवरी तक चलेगी। परीक्षा को लेकर बोर्ड के अध्यक्ष आनंद किशोर ने आज बताया कि इस बार पूरे बिहार से कुल 16,60,609 विद्यार्थियों ने फॉर्म भरा है जिसमें पहली पाली में कुल 8,42,888 विद्यार्थी (4,08,802 छात्राएँ एवं 4,08,615 छात्र) परीक्षा में शामिल होंगे वहीं दूसरे पाली में 8,17,721 विद्यार्थि (4,28,273 छात्राएँ एवं 4,14,919 छात्र) शामिल होंगे. इसके लिए राज्य के 38 जिलों में 1418 केन्द्र बनाये गए हैं। जिसमें पटना जिला में कुल 74 केन्द्र है। जिनपर पहली पाली में कुल 39,140 और दूसरी पाली में 37,292 परीक्षार्थी शामिल होंगे।

अध्यक्ष ने बताया कि परीक्षा को पूरी तरह से कदाचारमुक्त बनाने के लिए पूरी तैयारी की गई है। केन्द्र पर तैनात वीक्षक के साथ-साथ परीक्षा में शामिल होने वाले छात्र-छात्राओं के लिए जरुरी निर्देश जारी किए हैं। जिनका उल्ल्घंन करते पाये जाने पर कठोर कार्रवाई की जायेगी।

(क) परीक्षार्थियों के लिए :-

  1. प्रत्येक परीक्षार्थी को परीक्षा प्रारंभ होने के समय से 10 मिनट पूर्व ही अपने परीक्षा भवन में प्रवेश करना अनिवार्य होगा. अर्थात प्रथम पाली कि परीक्षार्थी को पूर्वाहन 09:30 बजे से 10 मिनट पूर्व अर्थात पूर्वाहन 09:20 बजे तक तथा दितीय पाली के परीक्षार्थी को द्वितीय पाली के प्रारंभ होने के समय अपराहन 01:45 बजे से 10 मिनट पूर्व अर्थात अपराहन 01:35 बजे तक ही परीक्षा भवन में प्रवेश कि अनुमति दी जाएगी। विलम्ब से आने वाले परीक्षार्थी को परीक्षा भवन में प्रवेश की अनुमति नहीं मिलेगी।
  2. उत्तरपुस्तिका एवं ओ0एम0आर0 उत्तर पत्रक में परीक्षार्थी का नाम, रौल कोड, रौल नंबर, विषय कोड, विषय का नाम, पाली, पंजीयन संख्या एवं परीक्षा की तिथि आदि Pre-Printed रहेगा। अतः परीक्षार्थी डाटायुक्त उत्तरपुस्तिका एवं ओ0एम0आर0 उत्तर पत्रक में छपे अपना नाम, रौल कोड, रौल नंबर, विषय कोड, विषय का पूरा नाम, पंजीयन संख्या आदि का मिलान कर यह संतुष्ट हो लेंगे कि डाटायुक्त उत्तरपुस्तिका एवं ओ0एम0आर0 उत्तर पत्रक उनकी ही है।
  3. परीक्षार्थियों को जूता-मोजा पहन कर परीक्षा केन्द्र में प्रवेश वर्जित रहेगा। तदनुसार परीक्षार्थी जूता-मोजा की जगह चप्पल पहन कर ही परीक्षा केन्द्र में प्रवेश करेंगे।
  4. परीक्षार्थी परीक्षा भवन में प्रवेश पत्र एवं पेन के अलावा कुछ भी नहीं ले जायेंगे ।
  5. परीक्षार्थी को परीक्षा केन्द्र में कैलकुलेटर, मोबाईल फोन, ब्लूटूथ, ईयरफोन या अन्य इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स आदि लाना अथवा प्रयोग करना वर्जित है।
  6. उत्तरपुस्तिका एवं ओ0एम0आर0 उत्तर पत्रकों पर व्हाईटनर, इरेजर, नाखून, ब्लेड आदि का इस्तेमाल करना सर्वथा वर्जित है। ऐसा पाये जाने पर कदाचार का मामला मानते हुए परीक्षाफल अमान्य (Invalid) कर दिया जाएगा।
  7. किसी भी परिस्थिति में परीक्षार्थियों के निर्गत मूल एडमिट कार्ड में अंकित विषय एवं अन्य विवरण में संशोधन नहीं किया जाएगा।

(ख) वीक्षकों के लिए :

वीक्षक द्वारा परीक्षा कक्ष में आवंटित सभी परीक्षार्थियों की तलाशी (Frisking) लेकर इस आशय का घोषणा पत्र केन्द्राधीक्षक को उपलब्ध कराना होगा कि किसी भी परीक्षार्थी के पास चिट-पूजें या अन्य अनावश्यक कागजात यथा-ब्लटथ, मोबाइल आदि नहीं है।

वीक्षक द्वारा सभी आवंटित परीक्षार्थियों की डाटा वंटित परीक्षार्थियों की डाटायुक्त उत्तरपुस्तिका, ओ0एम0आर0 उत्तर पत्रक, प्रश्न पत्र एवं उपस्थिति पत्रक भरने के संबंध में सही-सही मार्गदर्शन करेंगे, ताकि परीक्षार्थी द्वारा भरने में कोई त्रुटि नहीं होने पाये।

वीक्षक द्वारा प्रत्येक परीक्षा दिवस को प्रत्येक पाली में परीक्षार्थी को संबंधित विषय की डाटायुक्त उत्तरपुस्तिका एवं ओ0एम0आर0 उत्तर पत्रक एक साथ दी जाएगी, परन्तु परीक्षा प्रारम्भ होने के 1 घंटे 15 मिनट के उपरान्त परीक्षार्थी से व्यवहृत ओ0एम0आर0 उत्तर पत्रक संग्रह कर लिया जाएगा।


(ग) केन्द्राधीक्षक एवं प्रतिनियुक्त दण्डाधिकारी के लिए:

1.प्रतिनियुक्त दण्डाधिकारी एवं पुलिस बल के द्वारा परीक्षार्थियों के प्रवेश के समय परीक्षा केन्द्र के मुख्य गेट पर तलाशी (Frisking) लेना अनिवार्य होगा, ताकि उनके पास चिट-पुर्जे, गाईड, पुस्तक या अन्य कोई वर्जित सामग्री नहीं रहने पाये।
2.केन्द्राधीक्षक एक आगन्तुक पंजी संधारित रखेंगे, ताकि परीक्षा के निरीक्षण हेतु आने वाले जोनल/सुपर जोनल एवं अन्य पदाधिकारियों का नाम, तिथि, समय एवं निरीक्षणोपरान्त अपना मंतव्य दर्ज किया जा सके।