पटना सेंट्रल स्कूल में विज्ञान प्रदर्शनी सह व्यंजन मेला आयोजित

0
113

पटना: आचार्य सुदर्शन पटना सेंट्रल स्कूल में विज्ञान प्रदर्शनी सह व्यंजन मेला का आयोजन किया गया. इस अवसर पर बिहार के पंचायती राज मंत्री कपिल देव कामत ने प्रदर्शनी का उद्घाटन किया. इस मौके पर मृदुला शर्मा, वाइस चांसलर, चाणक्य लॉ विश्वविद्यालय, डॉ पी. के. सिंह डायरेक्टर, एम्स, पटना, प्रोफेसर राधाकांत प्रसाद, प्राचार्य, साइंस कॉलेज, प्रोफेसर डॉ दिलीप वर्मा प्रोफेसर, रसायन विज्ञान, साइंस कॉलेज मौजूद थे.

संस्था के संस्थापक आचार्य सुदर्शन जी महाराज ने अतिथियों का स्वागत कर उन्हें शॉल पटका देकर सम्मानित किया. अपने उद्घाटन भाषण में कामत ने कहा कि विज्ञान के बिना विकास संभव नहीं है. आज विज्ञान के प्रति बच्चों में जागरूकता जगाने की जरूरत है आज सरकार की ओर से गरीब एवं उपेक्षित बच्चों में भी विज्ञान के प्रति जागरूकता पैदा करने का प्रयास किया जा रहा है. इससे हमारे बच्चे विकास की मुख्यधारा से जुड़ पाएंगे. मृदुला मिश्रा ने बच्चों का प्रोत्साहित किया और विज्ञान के प्रति उत्साह जागरूकता पैदा करने की अपील की.

आगे उन्होंने कहा कि विज्ञान मानव जाति के विकास का सबसे बड़ा हथियार है. विज्ञान से विकास और विनाश दोनों होता है. हमें हमेशा विज्ञान को विकास के रास्ते पर ले चलने का प्रयास किया जाना चाहिए. आचार्य ने अपने संदेश में कहा कि धर्म के भीतर विज्ञान है. हनुमान चालीसा में सूर्य की दूरी का सही ज्ञान नहीं दिया गया. आगे उन्होंने कहा कि हम देश को राष्ट्रीयता, विज्ञान से जोड़कर ही शक्तिशाली बना सकते हैं. धर्म हमें विज्ञान के दुष्परिणामों को रोकने में मदद करता है.

मेरी सोच है कि विज्ञान को हमेशा विवेक के अधीन होना चाहिए तभी मानवता का सही विकास होगा. विज्ञान और संवेदना दोनों एक ही सिक्के के दो पहलू हैं. प्रोफेसर राधाकांत प्रसाद, प्राचार्य साइंस कॉलेज में विज्ञान के इतिहास को बच्चों के सामने रखा. उन्होंने बताया कि आज बच्चे हर काम में एक वैज्ञानिक समझ पैदा कर अपने व्यक्तित्व को विज्ञानमय में बना रहे हैं.

स्कूल परिसर विज्ञान के मॉडलों से पटा हुआ था. इसमें विज्ञान के अलावे साहित्य कला, समाज विज्ञान से संबंधित मॉडलों को भी प्रदर्शित किया गया है. बच्चों ने स्वादिष्ट व्यंजनों एवं लजीज खाद्य सामग्रियों के द्वारा लोगों को आकर्षित किया गया हैं. संस्था के कार्यकारी अध्यक्ष डॉ बीके सुदर्शन ने अपनी उपस्थिति से बच्चों को प्रेरित किया. प्राचार्य एस पी सिंह ने बच्चों द्वारा लगाई गई प्रदर्शनी की. उप प्राचार्य सराहना की श्री ओपी सिंह ने धन्यवाद ज्ञापन किया.