कफन दुकानदार को गोली मारने के मामले में हुई है पहली गिरफ्तारी

0
51

पटना/अमित जायसवाल : सोमवार की रात पटना में कफन बेचने वाले दुकानदार अवधेश को गोली मारी गई थी. गोली अवधेश के पैर में लगी थी. इस वारदात को पड़ोसी दुकानदार अजय गोप और उसके भाई उदय गोप ने मिलकर अंजाम दिया था. अवधेश के परिवार वालों ने अजय गोप और उसके भाई समेत कुल 5 अपराधियों के खिलाफ नामजद एफआईआर पटना क़वे बुद्धा कॉलोनी थाना में दर्ज कराया है.

इस मामले में पटना पुलिस को एक सफलता भी मिल गई है. वारदात में शामिल और एफआईआर में नामजद चंदन कुमार को पुलिस टीम ने गिरफ्तार कर लिया है. डीएसपी लॉ एंड ऑर्डर डॉ. राकेश कुमार के अनुसार उनकी टीम ने चंदन को वारदात के कुछ घंटे बाद ही गिरफ्तार कर लिया था.

– शराब के नशे में थे सभी
पुलिस के अनुसार वारदात का मेन कारण दुकानदारी को लेकर हुई दुश्मनी बताई जा रही है. अजय गोप का दुकान फ्रंट साइड में पड़ता है. जबकि अवधेश की दुकान पीछे में है. इस कारण दुकान पर आने वाले कस्टमर्स को अजय और उसके भाई रोक लिया करते थे. जिस वक़्त वारदात हुई उस दरम्यान सभी ने शराब पी रखी थी. शराब के नशे में ही अवधेश से बहस हुई.

उसके बाद ही देशी कट्टे से अजय ने अवधेश पर गोली चला दी, जो उसके पैर में लगी. फिलहाल घायल दुकानदार की हालत खतरे से बाहर है. डीएसपी लॉ एंड आर्डर के अनुसार अजय गोप 4-5 महीने ही जेल से छूटकर बाहर आया था. आपराधिक मामले में ही वो जेल गया था. फिलहाल इस मामले में अजय और उसके भाई समेत कुल 4 लोग फरार चल रहे हैं. इनकी तलाश में छापेमारी चल रही है.