36.1 C
Delhi
Homeबिहारपटनाप्रशिक्षण के जरिये बताया गया, साइकोथेरेपी विधि से कैसे मादक पदार्थों के...

प्रशिक्षण के जरिये बताया गया, साइकोथेरेपी विधि से कैसे मादक पदार्थों के दुरूपयोग रोका जा सकता है

- Advertisement -spot_img

पटना/प्रतिनिधि: आज राज्य बाल संरक्षण समिति, बिहार (समाज कल्याण विभाग,बिहार सरकार )के तत्वावधान में बिहार के सभी जिलों के अधीक्षकगणों का दो दिवसीय प्रशिक्षण दिया गया। यह कार्यक्रम बच्चों व युवाओं में नशीले पदार्थों के सेवन से होनेवाले नुकसान व उनकी इस समस्या को मनोवैज्ञानिक विधि से समाधान कैसे संभव हैं इसपर दिया गया।

इस प्रशिक्षण में बिहार के सभी जिलों में कार्यरत अधीक्षक भाग ले रहे हैं। मेरे द्वारा आज नशा पीड़ित बच्चों व युवाओं के संभव उपचार पर फोकस कराया गया। साइकोथेरेपी विधि से कैसे मादक पदार्थों के दुरूपयोग रोका जा सकता है इसपर गहन प्रशिक्षण दिया गया। होम में आवासित नशा पीड़ित बच्चों के साथ अधीक्षक की क्या भूमिका होगी,उनसे उनका संवाद क्या होगा व कब चिकित्सक से संपर्क करना है,नशा से बच्चो व युवाओं को कैसे बचा सकते हैं, रिलैप्स के संभावित कारणों व जोखिम क्या है, इसकी पुरी जानकारी दी गयी।


आज के इस महत्वपूर्ण प्रशिक्षण में मनोचिकित्सा की विश्वविख्यात प्रकारों व आधुनिक तरीके से पुरे बिहार के अधिकारियों को उनसे रूबरू कराया गया। इस प्रोग्राम में करीब 70 से अधिक ऑफिसर्स ने हिस्सा लिया।

- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -