शिक्षा से आपकी दिशा और दशा दोनों बदल सकती है…मास्टर साहब सिर्फ स्कूल जाकर हाजरी बनाने से कुछ नहीं होगा… पढ़ें पूरी खबर

पूर्णियाँ

Purnia, Rajesh Kumar Jha : शिक्षा से आपकी दिशा और दशा दोनों को बदला जा सकता है.इसलिये हर शिक्षक को अपनी पूरी ईमानदारी देनी होगी. ठीक से पढ़ाएंगे तो बढ़ेगी वेतन,वरना नौकरी से भी हाथ धोना पड़ सकता है.बताते चलें कि शुक्रवार को देश के प्रथम शिक्षा मंत्री मौलाना अबुल कलाम आजाद की जयंती पर शिक्षा दिवस के समारोह के मौके पर सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि शिक्षा से आपकी दिशा और दशा दोनों बदल सकती है.

उन्होंने साफ-साफ कहा कि शिक्षक अपने मौलिक कर्तव्यों का पालन करें.अपने कामों के प्रति पूरी ईमानदारी दें.ठीक से पढ़ाएंगे तो बढ़ेगी वेतन,वरना नौकरी से भी हाथ धोना पड़ जायेगा.मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार में आने के बाद 12 प्रतिशत लड़के और लड़कियां स्कूल नहीं जाते थे. हमने इनके पढ़ने का पूरा इंतजाम किया तो आज रिजल्ट आप सबों के सामने है.आज पूरे सूबे में मात्र 0.5 प्रतिशत से भी कम बच्चे स्कूल से बाहर है लेकिन हमारा लक्ष्य है कि सभी बच्चे स्कूल जरूर जाएं.उन्होंने कहा कि मेरे पहल पर आईआईटी की स्थापना हुई.

अभी बजट का 21% तक का खर्च शिक्षा पर किया जा रहा है.आने वाले समय में इसे बढाकर 25% तक किया जाएगा.हमलोगों ने लड़कियों को पढ़ने के लिये पूरी व्यवस्था तक कर दी है.मेडिकल एवं इंजीनियरिंग में लड़कियों के लिये एक तिहाई सीटें भी आरक्षित कर दी है.