पूर्णिया: पढ़ें एक ऐसे थानेदार के बारे में जिन्होंने खाकी वर्दी को ही कर दिया कलंकित

पूर्णिया(राजेश कुमार झा): जिले का सस्पेंडे थानाध्यक्ष मदन कुमार की मुश्किलें कम होने का नाम ही नही ले रही है.इस थानाध्यक्ष के बारे में हर दिन नये-नये खुलासे सामने आ रहे है.बताते चलें पूर्णिया की तत्कालीन आईजी रत्न संजय को शहर के मरंगा थानाध्यक्ष मदन कुमार के बारे में शिकायत मिली कि ये किसी प्राइवेट आदमी को रख कर थाना चला रहे है.इस शिकायत पर तत्कालीन आईजी रत्न संजय काफी तकलीफ हुई.

उन्होंने उसी वक्त वर्तमान सदर एसडीपीओ आंनद पांडे को इसकी जांच कर रिपोर्ट देने का आदेश दिए.रिपोर्ट आने के बाद तत्कालीन आईजी रत्न संजय ने आईजी ऑफिस में वर्तमान एडिशनल एसपी बमबम चौधरी को इसकी पूरी जांच करने के आदेश दिए.जांच रिपोर्ट आने के बाद तत्कालीन आईजी रत्न संजय के होश उड़ गए.उन्होंने रिपोर्ट का खुलासा करते हुए बताए कि 11 साल में इन्होंने जितनी सैलेरी ली है,उससे ज्यादा मदन कुमार का बैंक बैलेंस है.

उन्होंने बताया कि थानाध्यक्ष मदन कुमार ने 2019 और 2020 में अपने सम्पत्ति का ब्यौरा सरकार को नही दिया है.उन्होंने बताया कि पिछले जुलाई महीने में एक बड़े बिल्डर्स से 27 लाख रूपये का तीन बेडरूम का फ्लैट खरीदा है.इसके अलावे उन्होंने 370 ग्राम का सोना और कई सम्पत्ति बनाई है.तत्कालीन आईजी रत्न संजय ने कहा कि इनके खिलाफ आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने का मामला के0 हाट थाने में दर्ज कर दिया गया है.