अब हर बड़ी सड़क दुर्घटना के कारणों की जांच करेगी ‘रोड सेफ्टी एक्सिडेंट इंवेस्टिगेशन टीम’

0
760

पटना : सड़क दुर्घटना को कम करने और कहां किन वजहों से सड़क दुर्घटनाएं हो रही है अब इसकी पड़ताल की जाएगी। अब हर बड़ी सड़क दुर्घटनाओं की जांच होगी। इसकी जांच के लिए रोड सेफ्टी की एक्सिडेंट इंवेस्टिगेशन की टीम घटना स्थल पर जाएगी और विभिन्न पहलूओं पर बारिकी से जांच-पड़ताल करेगी।

परिवहन विभाग के सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने बताया कि हर दिन सड़क दुर्घटनाएं हो रही हैं। बिहार में लगभग 15 मौतें सड़क हादसे में हर दिन हो रही है। वहीं लगभग 30 से अधिक लोग सड़क हादसे में घायल हो रहे हैं। दुर्घटनाओं में कमी लाने और उसकी जांच के लिए एक विशेष टीम तैयार की गई है। घटना स्थल पर रोड सेफ्टी ऑडिट एंबुलेंस जायेगा।

बिहार सड़क सुरक्षा परिषद में यह टीम तैनात की गई है। इस टीम में इंजीनियर, डेटा एनालिस्ट, पॉलिसी एंड इंप्लीमेंटेशन और मैनेजर, आई.ई.सी. को रखा गया है। यह टीम हर बड़ी सड़क दुर्घटनाओं की घटना स्थल पर जाकर जांच करेगी। घटना के तकनीकी पहलुओं को देखेगी।

रोड सेफ्टी की एक्सिडेंट इंवेस्टिगेशन टीम जाकर देखेगी कि घटना का क्या कारण था, भविष्य में उक्त जगह पर सड़क दुर्घटना न हो इसके लिए क्या किया जा सकता है? हादसे के कारणों और इस पर काबू पाने के उपायों पर जांच पड़ताल के बाद रिपोर्ट तैयार की जायेगी।

राज्य स्तर पर इसकी मॉनिटरिंग राज्य परिवहन आयुक्त सीमा त्रिपाठी करेंगी। घटना स्थल पर मुख्यालय स्तर से रोड सेफ्टी की टीम के साथ संबंधित जिले के डीटीओ, एमवीआई और रोड के इंजीनियर भी जायेंगे। परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने कहा है कि जांच के दौरान घटना स्थल पर सड़क सुरक्षा से संबंधित कमियां पाए जाने पर उसे एक निर्धारित समय सीमा के अंदर दूर किया जायेगा।

मुख्यालय स्तर पर जांच टीम में रोड सेफ्टी सीविल इंजीनियर अशफहान आलम, रोड सेफ्टी व्हीकल इंजीनियर राजीव कुमार, मैनेजर आई.ई.सी. मुकेश, डेटा एनालिस्ट वेदप्रकाश उपाध्याय, मैनेजर पॉलिसी एंड इंप्लीमेंटेशन मणी ठाकुर होंगे। इसके साथ ही हर जिले के डीटीओ, एमवीआई और रोड के इंजीनियर भी रहेंगे। सड़क सुरक्षा से संबंधित कार्यों के लिए बिहार सड़क सुरक्षा परिषद (लीड एजेंसी) का गठन किया गया है।