शादी में फायरिंग से नर्तकी मौत मामले में एक और थानेदार पर गिरी गाज, हुए लाइन हाजिर

0
127

सहरसा/रमन ठाकुर: शादी समारोह में फायरिंग के दौरान एक डांसर आकृति सिंह ऊर्फ मधु की गोली लगने से हुई मौत मामले का गाज रविवार को एक और थानेदार पर गिरा। सदर थाना प्रभारी आर.के.सिंह का इससे जुड़े वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस कप्तान राकेश कुमार ने थानेदार को लाईन हाजिर करने का आदेश जारी कर दिया। इस मामले में सोनवर्षाराज थाना के थानेदार सुमन कुमार को पहले ही सस्पेंड किया जा चुका है। इस मामले में जिस तेजी से रंग बिरंगा वीडियो वायरल हो रहा है उसमें यह तय माना जा रहा है कि अभी और भी गाज गिरना है।

जानकारों का कहना है कि 20 फरवरी को बिराटपुर गांव में हुई इस शादी में काफी संख्या में वर्दी वाले शरीक हुए थे। इस शादी में वृहत पैमाने पर शराब परोसने के साथ सैकड़ों राउंड फायरिंग हुई थी। जिस आशीष सिंह की बहन की शादी थी वो और उसका भाई शराब कारोबारी है। आशीष के भाई को सदर थाना प्रभारी आर के सिंह ने ही कुछ दिन पहले शराब के साथ गिरफ्तार किया था। वायरल हो रहे वीडियो में आर के सिंह के इन्ही दोनों भाई द्वारा खूब आवभगत किये जाते दिखाया गया है।

साथ ही बगैर वरीय पदाधिकारी को जानकारी दिये  जिला मुख्यालय से पचास किलोमीटर दूर उस शादी समारोह में शामिल होना भी लाईन हाजिर किये जाने का पुख्ता आधार बताया जा रहा है। हालांकि इस मामले को पुलिस कप्तान ने काफी गंभीरता से लिया है और हर उस व्यक्ति की तलाश की जा रही जो उस शादी में प्रचुर नशा में मदमस्त होकर फायरिंग कर रहे थे। नर्तकी हत्याकांड में कुल नौ लोगों को नामजद अभियुक्त बनाया गया है जिसमे अधिकतर अभी भी पुलिस गिरफ्त से बाहर है।

मजे की बात यह है कि पुलिस कप्तान द्वारा रविवार को सदर थानेदार आर के सिंह को लाइन हाजिर किये जाने संबंधी आदेश में तीन नये थानेदार को सदर, सोनवर्षाराज और नौहट्टा में तैनात किया गया है। तबादले और लाइन हाजिर किये जाने का कारण कानून व्यवस्था को दर्शाया गया है। आदेश की कॉपी सार्वजनिक होने के बाद पुलिस महकमे में ही दबी जुबान से यह चर्चा होने लगी कि एक को सस्पेंड और एक को सिर्फ लाईन हाजिर किये जाने का क्या मतलब ?