छात्राएं टेंट में परीक्षा देने को विवश, परीक्षार्थी एवं अभिभावकों में आक्रोश

0
156

समस्तीपुर/दलसिंहसराय (डॉ राजन वर्मा): प्रशासन द्वारा सभी सुविधाओं से लैस आदर्श परीक्षा केंद्र के दावा में कितन खोखलापन है. यह अनुमंडल मुख्यालय स्थित एक आदर्श परीक्षा केंद्र को देखने से अंदाजा लग जाता है. अभी चल रही मैट्रिक की परीक्षा के लिए अनुमंडल मुख्यालय में एक ऐसा आदर्श केंद्र बनाया गया है जो कहने को तो आदर्श परीक्षा केंद्र है. लेकिन यहां छात्राएं टेंट में परीक्षा देने को विवश हो रही है.

मौसम के बदलते रुख के कारण भी इस आदर्श परीक्षा केंद्र में शामिल हो रही सभी छात्राओं को काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है. लेकिन वे करे भी तो क्या करे. बताते चलें की इस बार अनुमंडल मुख्यालय पर की मैट्रिक की परीक्षा के लिए कुल ग्यारह परीक्षा केंद्र बनाए गए है. जहां 11 हजार 9 सौ 92 छात्राएं परीक्षा में शामिल हो रही है. वहीं शहर के राजकीय कृत बालिका उच्च विद्यालय को आदर्श परीक्षा केंद्र बनाया गया है.

लेकिन आदर्श परीक्षा केंद्र के एक ब्लॉक के दूसरी मंजिल पर छात्राएं टेंट में भी परीक्षा देने को मजबूर हैं. लोगो का कहना है कि परीक्षा से पूर्व की तैयारी में संसाधन सहित विद्यार्थियों के बैठने आदि की क्षमता आदि का आंकलन किया जाता है. लेकिन ऐसी हालत में छात्राएं कैसे परीक्षा दे रही होगी. इसका अंदाजा सहज ही लगाया जा सकता है. वहीं इसको लेकर परीक्षार्थियों के अलावे उनके अभिभावकों में भी काफी नाराजगी देखी जा रही है.

लेकिन कोई भी खुले तौर से फिलहाल इस संबंध में कुछ भी कहने के बजाय अपना मुंह बंद ही रख रहे है. इधर अनुमंडल में अधिकारियो का दावा है कि सभी परीक्षा केंद्रो पर शांतिपूर्ण एवं कदाचार मुक्त परीक्षा चल रही है. एसडीओ विष्णुदेव मंडल, डीसीएलआर ज्ञानेंद्र कुमार, डीएसपी कुंदन कुमार सहित कई अधिकारियों द्वारा परीक्षा केंद्रों का लगातार जायजा लिया जा रहा है.