Sasaram : जिले के नासरीगंज से चार नाबालिग लड़कियों को पुलिस ने सकुशल बरामद किया

सासाराम

Arvind Kumar Singh: जिले के नासरिगज थाना क्षेत्र से 4 बच्चियों के घर से खेत जाने के लिए निकलने के बाद वापस नहीं आने की सूचना मिली। गाँव के एक व्यक्ति के द्वारा उन्हें एक स्थान पर देखा गया जो सड़क पर था, लेकिन अभिभावकों को सूचित करने पर उनके आने के बाद वो वहाँ नहीं थी इस सम्बंध में स्थानीय थाना और वरिय पुलिस अधिकारी घटनास्थल पर पहुच कर जाच की गाँव वालों की मदद से उन्हें तलाशने की गई। GRP की भी मदद ली गई। चारो को पुलिस की प्रयास से सकुशल बरामद किया गया। एसपी ने की प्रेस कांफ्रेंस में जानकारी देते हुए पूरी घटना की जानकारी देते हुए एसपी विनित कुमार ने गुरुवार दोपहर प्रेस कांफ्रेंस कर विस्तृत जानकारी दी।

एसपी ने बताया कि कि तीन नाबालिग बच्चियों के गायब होने के मामले को गंभीरता से लेते हुए तीन टीमों का गठन किया गया। एक टीम एसडीपीओ बिक्रमगंज शशिभूषण प्रसाद के नेत्त्व में तथा दो टीमें क्रमशः नासरीगंज प्रभारी थानाध्यक्ष अजय कुमार एवं नासरीगंज अंचल निरीक्षक सुबोध कुमार के नेतृत्व में गठित की गई। पड़ोसी जिलों की पुलिस को भी मामले की सूचना वितंतु माध्यम से दी गई। रेलवे स्टेशन के जीआरपी को भी सूचना दी गई। सोशल मीडिया पर गायब नाबालिग बच्चियों के फोटो जारी किए गए। कहा कि रोहतास पुलिस के इन कार्रवईयों का सकरात्मक परिणाम आया। रात साढ़े 11 बजे औरंगाबाद जिले के बारूण थाना कि पुलिस द्वारा सूचना दी गई कि चारों नाबालिग बच्चियों को बारूण बस स्टैण्ड पर स्पाॅट किया गया है।

सूचना मिलते ही नासरीगंज थाना के महिला पुलिस अधिकारी के नेतृत्व में टीम को बारूण रवाना किया और चारों बच्चियों को सुरक्षित नासरीगंज थाना लाया गया। बताया कि बच्चियों ने प्रारंभिक पूछताछ में बताया है कि वे चारों बस पकड़ पहले डेहरी चली गई, फिर वहां से बारूण चली गई। बताया कि बच्चियों को विश्वास में लेकर महिला पुलिस अधिकारी अमिता दास द्वारा पूछताछ की जा रही है कि वह घर से क्यों गई, या किसी और के साथ गई? कहा कि बच्चियां कुछ और बतायेगी तो इसकी जानकारी दी जाएगी। कहां कि इस अभियान सभी पुलिस अधिकारियों को पुरस्कृत किया जाएगा।

यह भी पढ़े :-