एड्स कर्मियों की समस्या हल नहीं होने पर तालाबंदी व हड़ताल करेगा- बिहार राज्य एड्स नियंत्रण समिति

0
300

शिवहर/रंजीत मिश्रा: एड्स एक लाइलाज बीमारी है, इस बीमारी की रोकथाम एवं उपचार में वर्षों से कार्यरत शिवहर जिले के एडस संविदा कर्मचारियों की समस्याए यथावत बनी हुई है ,इनके वेतन व सेवाकाल के दौरान सुविधाओं में पिछले किसी भी समय में कोई वृद्धि नहीं की गई है, समान काम का समान वेतन का लाभ स्थायीकरण होने तक बिहार सरकार के संकल्प के अनुसार सभी ऐड्स कर्मियों का वेतन निर्धारण 4 लाख का अनुग्रह अनुदान, मातृत्व लाभ ,माह में 2 दिन का विशेष अवकाश सहित दुर्घटना में घायल कर्मियों के इलाज, दुर्घटना मुआवजा की मांग को लेकर एक आवेदन प्रधान सचिव स्वास्थ्य विभाग बिहार सरकार एवं परियोजना निदेशक बिहार राज्य एड्स नियंत्रण समिति को दिया गया है।

दिए गए आवेदन में बताया है कि 5 वर्ष पूर्व वर्ष 2013 से 2015 तक 2 वर्ष अवधि का एडस कर्मियों का खासकर फील्ड कर्मियों के मानदेय मध्य की करोड़ों रुपए की राशि को बिहार राज्य एड्स नियंत्रण समिति शेखपुरा पटना के प्रशासनिक अधिकारी हड़प है,।

इस बाबत बिहार राज्य एड्स नियंत्रण कर्मचारी संघ के जिला इकाई शिवहर के प्रभारी प्रयोगशाला प्रौद्योगिक मोहम्मद जावेद अनवर काउंसलर एसटीडी मधुबाला प्रयोगशाला प्रौद्योगिक अनिल कुमार ने बताया है कि बिहार राज्य एड्स नियंत्रण समिति में बैठे भ्रष्ट आचरण व कुंठित मानसिकता वाले ऐसे अधिकारी जिन्होंने अंधेर कर दी मचा रखा है,एड्स की तरह लाइलाज बीमारी बन गए हैं

कर्मियों का उक्त समस्याओं के समाधान के लिए एड्स कर्मियों के एकमात्र एकल संघ बिहार राज्य एड्स नियंत्रण कर्मचारी संघ ने लगातार प्रयास करते हुए समिति के परियोजना निदेशक प्रधान सचिव स्वास्थ्य मंत्री सहित वाले विधायक महबूब आलम द्वारा बिहार विधानसभा के अंदर कर्मियों की समस्याओं के निराकरण के लिए सरकार का ध्यान आकृष्ट कराया गया था।

परंतु सरकार ने 60 दिनों में सभी तरह के बकाए का भुगतान करने का आदेश दिया लेकिन कर्मियों की समस्याएं हल नहीं हुई संघ द्वारा किए गए इन प्रयासों के बाद इन वास्तविक परिस्थितियों के मद्देनजर एड्स कर्मियों के वर्णित सभी समस्याओं के निराकरण नहीं किया गया है।

संघ ने बताया है कि आगामी 20 फरवरी को विधानसभा के चालू सत्र के दौरान एक दिवसीय धरना देने का निर्णय किया गया है अगर फिर भी एड्स कर्मियों की समस्या हल नहीं हुई तो संघ समिति मुख्यालय में तालाबंदी और पूरे राज्य में हड़ताल करेगा।