31.1 C
Delhi
Homeबिहारशिवहरछात्र बनकर डीएम ने की विद्यालय की गुणवत्ता की जांच

छात्र बनकर डीएम ने की विद्यालय की गुणवत्ता की जांच

- Advertisement -spot_img

शिवहर/बीपी प्रतिनिधि। शिवहर जिले में जिला पदाधिकारी मुकुल कुमार गुप्ता से लेकर डीडीसी विनोद दुहन, अपर समाहर्ता शंभू शरण, डीआरडीए डायरेक्टर शंभू कुमार, अनुमंडल पदाधिकारी मोहम्मद इश्तियाक अंसारी सहित कई पदाधिकारियों के द्वारा शिवहर जिले में बिहार राज्य सरकार के द्वारा संचालित योजनाओं की स्थल जांच से जिले में हड़कंप मच गया है।

जिला पदाधिकारी स्वयं राजकीय मध्य विद्यालय सुल्तानपुर का निरीक्षण के दौरान कक्षा आठ के विद्यार्थियों के साथ बैठकर बच्चों को मिल रही शिक्षा की गुणवत्ता की जांच करते हुए शिक्षकों के शिक्षण कौशल का निरीक्षण किया है।
राजकीय मध्य विद्यालय सुल्तानपुर के प्रधानाध्यापक द्वारा बच्चों को धूप में बिठाकर भोजन कराए जाने के कारण उनसे स्पष्टीकरण पूछने का निर्देश दिया गया है तथा सभी विद्यालयों से नियमित रूप से बाल पंजी का संधारण करवाने एवं 1 सप्ताह के अंदर विद्यालय के स्थानांतरण प्रमाण पत्र निर्गत करवाने हेतु जिला शिक्षा पदाधिकारी डॉक्टर ओम प्रकाश को निर्देशित किया है।

आवास योजना के निरीक्षण के दौरान डीएम ने लाभुकों को अपना मोबाइल नंबर देते हुए किसी भी प्रकार की शिकायत होने पर सीधा जिला पदाधिकारी से संपर्क करने हेतु कहा गया। जन वितरण प्रणाली केंद्र का निरीक्षण के दौरान डीएम ने घर-घर जाकर लाभूको को राशन वितरण के संबंध में फीडबैक प्राप्त किया है। लाभुकों से शिकायत मिलने पर एक डीलर का लाइसेंस संख्या -29/ 10- 11 से स्पष्टीकरण पूछने हेतु एसडीएम को निर्देश दिया है।

डीएम ने ग्रामीण सड़कों का भी निरीक्षण किया है इस दौरान सहायक अभियंता आरडब्ल्यूडी को जिले में आरडब्ल्यूडी द्वारा निर्मित सभी सड़कों का सर्वे करने तथा विशंभर पुर पंचायत में आरडब्ल्यूडी की योजनाओं के संबंध में आज शाम तक ही रिपोर्ट उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है।

आंगनबाड़ी केंद्रों का निरीक्षण के दौरान डीएम ने केंद्र संख्या- 105 सुल्तानपुर की सेविका द्वारा अस्वस्थकर वातावरण में भोजन पकाने की व्यवस्था के कारण सेविका गौरी कुमारी एवं बाल विकास परियोजना पदाधिकारी तरियानी से स्पष्टीकरण की मांग जिला प्रोग्राम पदाधिकारी सुचिता कुमारी को निर्देशित किया है। राष्ट्रीय सहारा अखबार एवं शिवहर लाइव पोर्टल न्यूज़ ने डीएम के स्थल निरीक्षण की खबर को प्रमुखता से प्रकाशित करने की पहल की है।

प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र तरियानी के औचक निरीक्षण के क्रम में डीएम ने रोस्टर वार चिकित्सकों एवं कर्मियों की उपस्थिति प्रयोगशाला, ओपीडी ,दवा वितरण आदि का निरीक्षण किया है। निरीक्षण के दौरान बिना सूचना के अनुपस्थित चिकित्सक डॉ अनामिका कुमारी के अनुपस्थित रहने के बावजूद हाजिरी बन जाने के कारण प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी संजय कुमार से स्पष्टीकरण की मांग की गई है । डीएम श्री गुप्ता के द्वारा आरटीपीएस काउंटर पर कार्यरत कार्यपालक सहायक एवं आईटी सहायकों से उनके द्वारा निष्पादित किए जा रहे कार्यों के संबंध में तथा काउंटर पर पंक्ति में खड़े आवेदक से पूछताछ की गई है।

जिला पदाधिकारी ने बताया कि महा निरीक्षण अभियान सतत चलने वाला अभियान है। पदाधिकारियों द्वारा लगातार क्षेत्र भ्रमण करने एवं स्थानीय लोगों से सरकार के महत्वपूर्ण योजनाओं के संबंध में फीडबैक प्राप्त करने से वास्तविक अर्थों में योजनाओं को उसके उद्देश्यों के अनुरूप धरातल पर उतारा जा सकता है।

यह भी पढ़े…

- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -