पुलवामा आतंकी हमले की शिवहर के लोगों ने निंदा कर जता दिया है कि अब आर नहीं तो पार

0
83

शिवहर/(रंजीत मिश्रा): 14 फरवरी को देश के वीर सैनिकों पर आत्मघाती हमले की निंदा शिवहर जिले के जिला प्रशासन, जिला पुलिस प्रशासन, तमाम राजनीतिक दल, सभी संगठन, समाजसेवी, बुद्धिजीवी, विद्यालय संस्थान, स्कूल के बच्चे, व्यवसायिक गण, तथा आम जनता सहित जिले के नौजवानों ने शोक संवेदना व्यक्त करते हुए श्रद्धांजलि दी है। समूचा देश है वीर जवानों की हत्या पर शोकमगन है, उसकी गूंज से शिवहर जिला का एक-एक व्यक्ति दुखी है. सभी अंदर ही अंदर पाकिस्तान को कोस रहा है तथा इस घटना का पुरजोर निंदा कर रहा है। सामाजिक संगठनों के लोगों ने कहा कि आतंक का अंत तुरंत होना चाहिए, कब तक हम अपने देश के वीर सपूतों को खोते रहेंगे? जिले के सभी सामाजिक संगठनों, जिले के क्रांतिकारी युवाओं ने देश के प्रधानमंत्री से मांग की है कि अब और नहीं -आर नहीं तो पार होनी ही चाहिए।

देशभक्ति का मिसाल हमारा जिला शिवहर भी है, चाहे देश की आजादी का समय हो ,चाहे अंग्रेज से लोहा लेना हो, शिवहर के कई स्वतंत्रता सेनानियों ने अपनी जान की बाजी लगा कर देश के स्वतंत्रता के लिए अहम योगदान दिया था।  जिले के क्रांतिकारी नौजवानों ने कहा है कि एक बार हम लोगों को छूट दे दे तो आतंकवादियों से लोहा लेने के लिए शिवहर के 1-1 लोग, क्रांतिकारी नौजवान आतंकवादियों से लड़ने के लिए काफी होगा। अधिवक्ता सतीश नंदन सिंह ने कहा कि देशभक्ति के सामने शिवहर जिला के हर एक व्यक्ति के खून खौल रहा है, हमारे वीर शहीदों को हत्या करना आतंकवादियों के लिए आने वाला दिन काफी महंगा पड़ सकता है। जबकि पूर्व जिला पार्षद अजब लाल चौधरी ने कहा कि पाकिस्तान आधारित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के द्वारा आतंकी हमले कर हमें तथा हमारे देश का अमन चैन छीन लिया गया है, जब आतंकवादियों की पहचान हो गई तो उन्हें नामोनिशान मिटा देना ही चाहिए।

शिवहर की जनता प्रधानमंत्री मोदी जी से अब पूछ रही है कि पूरी दुनिया का कई बार चक्कर काटने के बाद आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई के मोर्चे पर भारत को क्या हासिल हुआ? भारत को अपने कूटनीतिक प्रयासों से पाकिस्तान को अलग-थलग करने और उसे आतंकवादियों को संरक्षण और प्रोत्साहन देने  से रोकने में कितनी सफलता मिली है? वीर शहीदों के खोने का गम शिवहर जिले वासियों को है. शिवहर ने देशवासियों को जता दिया है कि हम भी देशभक्ति का जज्बा रखते हैं और हम देश के लिए कुछ भी कर गुजरने को तैयार है।